यह करोड़पति क्रिकेटर कभी गुरुद्वारे के लंगर से भरता था पेट

By: Inextlive | Publish Date: Thu 05-Oct-2017 11:55:55
A- A+
यह करोड़पति क्रिकेटर कभी गुरुद्वारे के लंगर से भरता था पेट
भारतीय क्रिकेट टीम के युवा और होनहार खिलाड़ी ऋषभ पंत आज अपना 20वां बर्थडे सेलीब्रेट कर रहे हैं। ऋषभ ने मेहनत और लगन से कम उम्र में ही अपनी पहचान बना ली। आज उनकी तुलना एमएस धोनी से होती है। आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ अनजानी बातें....

बचपन से था सपना
रुड़की में जन्‍में ऋषभ पंत को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक था। ऋषभ पंत को ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर एडम गिलक्रिस्‍ट बहुत पसंद हैं और वहीं उन्‍हीं की तरह बनना चाहते हैं। गिलक्रिस्‍ट की तरह ही ऋषभ भी विकेटकीपिंग के अलावा बाएं हाथ से बल्‍लेबाजी करते हैं।


गुरुद्वारे में खाते थे खाना
ऋषभ जहां रहते थे, वहां क्रिकेट कोचिंग के बड़े स्‍कूल नहीं थे। अपने सपनों को पूरा करने के लिए ऋषभ को क्रिकेट के गुर सीखने जरूरी थे। ऐसे में 12 साल का ऋषभ अपनी मां के साथ दिल्‍ली आ गया। अनजान शहर में न रहने का ठिकाना था, न ही कोई पहचान का। इसलिए मां-बेटे मोती बाग के गुरुद्वारे में रहते थे। मां गुरुद्वारे में सेवा करती थी तो ऋषभ सोनेट क्लब के कोच तारक सिन्हा के पास क्रिकेट सीखने जाते थे। रात का खाना मां-बेटे गुरुद्वारे में ही खाते थे। कई महीनों तक यही चलता रहा, बाद में उन्‍होंने एक किराए के कमरे का जुगाड़ किया और वहां रहने लगे।

अंडर-19 वर्ल्‍डकप से चर्चा में आए

2016 तक ऋषभ अंडर 14 और 16 खेला करते थे, उस वक्‍त उनको कोई नहीं जानता था। लेकिन पिछले साल खेले गए अंडर-19 वर्ल्‍डकप में इस युवा खिलाड़ी ने शानदार प्रदर्शन कर रातोंरात सुर्खियां बटोर लीं। पूरे टूर्नामेंट में ऋषभ ने 44.50 की औसत से 267 रन बनाए।

आईपीएल में बिके करोड़ों में
अंडर 19 विश्व कप के बाद पंत ने आइपीएल में भी अपने बल्ले का दम दिखाया। आइपीएल में दिल्ली की टीम ने इस उभरते हुए खिलाड़ी को इसके बेस प्राइज से 19 गुना ज़्यादा कीमत में खरीदा। दिल्ली की टीम ने 10 लाख की बेस प्राइज वाले ऋषभ पंत को 1.9 करोड़ रुपये खर्च कर अपनी टीम का हिस्सा बनाया।

रन मशीन हैं पंत
पंत ने 24 आईपीएल मैचों में दो बार नाबाद रहते हुए 151.21 की स्ट्राइक के साथ 564 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने सर्वश्रेष्ठ 97 रन समेत 3 अर्धशतक भी जड़े हैं। यही नहीं फर्स्‍ट क्‍लॉस क्रिकेट में भी पंत ने शानदार रिकॉर्ड बनाए हैं। उन्होंने 2016-17 रणजी ट्रॉफी में महाराष्ट्र के खिलाफ वानखेड़े के मैदान पर 308 रन की बेहतरीन पारी खेली। लेकिन पंत यहीं तक कहां रुकने वाले थे। उन्होंने झारखंड के खिलाफ सिर्फ 48 गेंदों में तेज़-तर्रार शतक जड़ दिया। इस सेंचुरी के साथ ऋषभ पंत फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे तेज़ शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी भी बन गए। पंत ने अभी तक 14 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम 1240 रन दर्ज हैं।

धोनी से होती है तुलना

धोनी के बाद टीम इंडिया के अगले विकेटकीपर के तौर पर ऋषभ पंत को देखा जा रहा है। पंत का क्रिकेट करियर अभी शुरु हुआ है उन्‍होंने दो टी-20 मैच खेले हैं। वह दिन दूर नहीं जब धोनी के संन्‍यास के बाद पंत विकेटकीपर के तौर पर टीम की अगली पसंद बन जाएंगे।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk