सीआरपीएफ के 159 बटालियन को सर्वश्रेष्ठ ऑपरेशन अवॉर्ड

यह बातें आइजी एमएस भाटिया ने कही. ज्ञात हो कि विगत दो जनवरी को गया-औरंगाबाद के सीमावर्ती क्षेत्र में कोबरा बटालियन पर हमला किया गया था. उस हमलावर नक्सली दस्ते की पहचान हो गई है. अब नक्सलियों को उस हमले का जवाब दिया जाएगा. सीआरपीएफ बिहार सेक्टर के आइजी एमएस भाटिया की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई मीटिंग में बिहार के सभी नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सघन एंटी नक्सल ऑपरेशन की रणनीति बनाई गई है. मीटिंग में आइजी भाटिया ने गया में तैनात सीआरपीएफ की 159 बटालियन को सर्वश्रेष्ठ ऑपरेशनल बटालियन का अवॉर्ड दिया.

जोनल कमांडर का दबदबा

हमलावर नक्सली दस्ता भाकपा (माओवादी) के नए एरिया कमांडर विवेक का है. द्वितीय कमान अधिकारी एसडी त्रिपाठी, उप कमांडेंट ज्ञानेंद्र कुमार सिंह, सहायक कमांडेंट वाइडी सिंह, संजय कुमार, सुजीत कुमार, सहायक कमांडेंट अंकित गुप्ता, निरीक्षक, आसूचना विजय ठाकुर व आशुतोष को अवॉर्ड मिला है.

घटनाओं की पुनरावृति न हो

शुक्रवार को सीआरपीएफ बिहार सेक्टर की मीटिंग में एंटी नक्सल ऑपरेशन की रूपरेखा बनाई गई. सीआरपीएफ के 8 अधिकारियों को उत्कृष्ट सेवा के लिए आइजी ने प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया. मीटिंग में तय किया गया कि विगत 2 जनवरी को जिस तरह नक्सलियों ने कोबरा बटालियन पर हमला किया था, वैसी घटनाओं की पुनरावृति न हो. पहले एरिया डोमिनेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही सीआरपीएफ और कोबरा बटालियन की टुकड़ी इन क्षेत्रों में प्रवेश करेगी.