शक्ति परी बन शोहदों पर कहर बरपाएंगी 200 छात्राएं

By: Inextlive | Publish Date: Fri 12-Jan-2018 07:00:03
A- A+
शक्ति परी बन शोहदों पर कहर बरपाएंगी 200 छात्राएं

- गोरखपुर की 200 लड़कियों को मिलेगा विशेष पुलिस अधिकारी का दर्जा

- विमन पावर लाइन 1090 की ओर से लड़कियों को बनाया जा रहा एसपीओ

- गोरखपुर पुलिस के जरिए स्कूली छात्राओं ने किया आवेदन

GORAKHPUR: मैं शपथ लेती हूं कि शक्ति परी (विशेष पुलिस अधिकारी) बनने के पश्चात पद व प्रतिष्ठा का का समान रूप से ध्यान रखूंगी व नियमों का पालन करूंगी। जल्द यह शपथ गोरखपुर की दो सौ से अधिक लड़कियां लेने वाली हैं। मौका होगा विमन पावर लाइन 1090 की ओर से शक्ति परी (विशेष पुलिस अधिकारी) बनने का। यह सम्मान पाने के बाद लड़कियां खुद की और अपने परिवार की सुरक्षा तो करेंगी ही, साथ ही एक पुलिस अधिकारी की तरह अन्य लड़कियों की भी मदद करेंगी। इसमें बतौर स्पेशल पुलिस ऑफिस सराहनीय काम करने वाली लड़कियों को पुलिस प्रशस्ति पत्र से सम्मानित भी ि1कया जाएगा.

'विमन सिक्योरिटी एप' से जुड़ेंगी छात्राएं

महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस का विमन पावर लाइन- 1090 की 'विमन सिक्योरिटी एप' अनोखी पहल शुरू की गई है। इसमें विमन पावर लाइन के सदस्य तो महिलाओं की सुरक्षा के लिए काम कर ही रहे हैं, लेकिन अब शहर की लड़कियां भी इससे जुड़कर सिर्फ पुलिस का ही सहयोग नहीं करेंगी। बल्कि वह अपने शहर की लड़कियों की विषम परिस्थितियों में मदद भी करेंगी। हालांकि इसके लिए उन्हें कोई वेतन नहीं दिया जाएगा, लेकिन विशेष पुलिस अधिकारी के तौर पर सराहनीय काम करने के लिए उन्हें सम्मानित किया जाएगा। खास बात यह है कि इसमें यह कोई जरूरी नहीं होगा कि उन्हें इसके लिए बराबर समय देना ही है, बल्कि वह अपनी पढ़ाई के साथ ही समय निकालकर इसमें मदद कर सकती हैं।

आईडी के साथ मिलेगी ट्रेनिंग

विमन पावर लाइन की इस पहल से जुड़ने के लिए गोरखपुर शहर की करीब दो सौ लड़कियों ने बकायदा फार्म भरकर विशेष पुलिस अधिकारी बनने के लिए आवेदन दिया है। इसके लिए पुलिस की ओर से शहर के विभिन्न स्कूलों में इच्छुक लड़कियों को फार्म दिया गया था। जिसमें करीब दो सौ फार्म भरकर लखनऊ मुख्यालय को भेजा जा चुका है। जल्द इन लड़कियों का परिचय पत्र बनकर भी आ जाएगा। इसके बाद इन्हें तीन दिनों की स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी। ऐसे में यह लड़कियां शहर की अन्य लड़कियों व महिलाओं की रक्षा व मदद के लिए काम करेंगी.

यह हाेगी खासियत

विशेष पुलिस अधिकारी बनने वाली लड़कियों की पहचान भी गोपनीय रखी जाएगी। साथ ही उन्हें किसी मसले में थाने और पुलिस चौकियों पर नहीं बुलाया जाएगा। इन लड़कियों के एक फोन कॉल पर पुलिस से लेकर अधिकारी तत्काल एक्शन में आ जाएंगे। इसके अलावा शक्ति परी अपने आसपास की लड़कियों के साथ होने वाले दु‌र्व्यवहार के बारे में 1090 को जानकारी देगी और उनका मनोबल बढ़ाकर उनकी मदद करेगी।

यह है एसपीओ बनने का मानक

- शक्ति परी (विशेष पुलिस अधिकारी) के लिए स्कूल- कॉलेज की छात्राओं ने किया है आवेदन

- कक्षा 10 या इससे उपर की कक्षा की ही छात्राओं को बनाया जाएगा एसपीओ

- (विशेष पुलिस अधिकारी) बनने के लिए अधिकतम आयु सीमा है 24 वर्ष

inextlive from Gorakhpur News Desk