KANPUR: चकेरी में मंगलवार रात चोरों ने थाने और पुलिस चौकी के पास तीन एटीएम मशीन को काटकर लाखों की नगदी पार कर दी. चोरों ने गैस कटर से मशीन को काटा था. सुबह जब कस्टमर एटीएम बूथ से रुपये निकालने गए. तब वारदात का खुलासा हुआ. एसएसपी ने एसपी और सीओ के साथ वहां जाकर जांच की. पुलिस को सीसीटीवी कैमरे से चोरों की फुटेज मिली है, लेकिन उनका चेहरा ढका होने से पहचान नहीं हो पाई. एसएसपी का कहना है कि पड़ताल की जा रही है. जल्द ही चोरों को पकड़ लिया जाएगा.

11 मिनट में काटे दो एटीएम

चकेरी की जाजमऊ पुलिस चौकी के पास डिफेंस कॉलोनी में यूको बैंक और एचडीएफसी बैंक का एटीएम बूथ है. मंगलवार रात करीब 2:29 बजे दो नकाबपोश बदमाश यूको बैंक के एटीएम बूथ में घुस गए. चोरों ने एटीएम बूथ में घुसते ही सीसीटीवी कैमरे को दूसरी तरफ मोड़ दिया. इसके बाद एटीएम को गैस कटर से काट दिया. इस मशीन में 25500 रुपए थे, लेकिन चोर 5500 रुपये ही पार कर पाए. यहां से निकलने के बाद चोरों ने कुछ दूरी पर स्थित एचडीएफसी बैंक के एटीएम बूथ पर धावा बोला. इस बूथ पर चोर 2:40 बजे घुसे थे. इस बूथ पर भी चोरों ने पहले रॉड से सीसीटीवी कैमरे को दूसरी तरफ कर दिया. चोरों ने इस एटीएम मशीन को काटकर 5 लाख 91 हजार रुपए पार कर दिया. इसके बाद चोरों ने गांधीग्राम स्थित यूनियन बैंक की एटीएम मशीन को काटकर करीब 14 लाख 46 हजार रुपए पार कर दिया. सुबह कस्टमर्स के एटीएम बूथ पर जाने पर वारदात का खुलासा हुआ. एसएसपी ने डॉग स्क्वायड और फ्रिंगर प्रिंट एक्सपर्ट से जांच करवाई, लेकिन उनको शातिरों का कोई ठोस सुराग नहीं मिला. एसएसपी का कहना है कि जल्द ही चोरों को पकड़ लिया जाएगा.

पुलिस गश्त की पोल खुली

चकेरी में मंगलवार रात चोरों ने जिन एटीएम बूथ पर धावा बोलकर वारदात को अंजाम दिया है. इसमें गांधीग्राम स्थित यूनियन बैंक का एटीएम बूथ थाने से कुछ ही दूरी पर है. इसी तरह एचडीएफसी बैंक का एटीएम जाजमऊ पुलिस चौकी से कुछ दूरी पर है. जब पुलिस को थाने और पुलिस चौकी के पास एटीएम में चोरी की भनक नहीं लगी तो अन्य इलाकों में सुरक्षा की उम्मीद नहीं की जा सकती है. इलाकाई लोगों का कहना है कि पुलिस गश्त के नाम पर खानापूरी करती है. तभी लगातार वारदातें हो रही है.

अफसर के बयानों में मतभेद

गांधीग्राम स्थित यूनियन बैंक से कितने रुपए पार हुए हैं. इसे लेकर कंपनी और बैंक अफसर का अलग-अलग बयान है. बैंक मैनेजर के मुताबिक एटीएम मशीन से 14 लाख 46 हजार रुपए पार हुए है, जबकि कंपनी अफसर का कहना है कि मशीन में 11 लाख रुपए थे. इसमें चोर 9 लाख 65 हजार रुपए ही ले जा सके हैं. इस एटीएम बूथ की सीसीटीवी फुटेज नहीं मिली है.

तीनों पर गार्ड नहीं तैनात

शहर में इससे पहले भी कई बार एटीएम मशीन से छेड़खानी और चोरी की वारदात हो चुकी है, लेकिन इसके बाद भी ज्यादातर एटीएम बूथ पर गार्ड नहीं हैं. बैंक का कहना है कि उन्होंने कंपनी को ठेका दे दिया है. वहीं, कंपनी अफसरों का कहना है कि उन्हें सिर्फ रुपए भरने का ठेका मिला है. बैंक और कंपनी अफसरों के इस विवाद में एटीएम बूथ पर गार्ड की व्यवस्था नहीं हो सकी है.

साइबर ठगों का है इलाका

चकेरी साइबर ठगों का हब बन चुका है. यहां पर सक्रिय ठग लोगों से उनका एटीएम कार्ड किराये पर लेकर बैंक के पैसे पार करते है. वे एक विशेष तरीके से एटीएम मशीन से इस तरह से पैसे निकालते है कि एटीएम मशीन से रुपए तो निकल जाते हैं, लेकिन कार्ड होल्डर के खाते से वह रकम नहीं कटती थी. माना जा रहा है कि इस गिरोह के जुड़े शातिरों ने ही चोरी की है. पुलिस का कहना है कि जांच चल रही है. जल्द ही सच्चाई सामने आ जाएगी.

पहले भी हो चुकी हैं वारदातें

-इससे पहले चकेरी में इंडसलिंड बैंक के एटीएम में चोरी का प्रयास हुआ था

-दो साल पहले चोर सरसौल स्थित एक बैंक की एटीएम मशीन को उखाड़ चुके है

-बर्रा में 15 दिन पहले एटीएम मशीन को काटकर रुपये निकालने की घटना हुई थी.

Crime News inextlive from Crime News Desk