- मेडिकल कॉलेज में पिछले महीने जूनियर-सीनियर के बीच मारपीट के मामले में 31 मेडिकल स्टूडेंट दोषी

- मामले की जांच कर रही कमेटी ने एक महीने का निलंबन और हॉस्टल से निकालने को की संस्तुति

kanpur@inext.co.in

KANPUR: मेडिकल कॉलेज में पिछले महीने जूनियर व सीनियर स्टूडेंट्स के बीच मारपीट के मामले में 31 मेडिकल स्टूडेंट्स को जांच कमेटी ने दोषी माना है. इन सभी के निलंबन और हॉस्टल से निकाले जाने की भी संस्तुति जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में की है. जांच में सामने आया कि जूनियर और सीनियर दोनों तरफ से ही छात्रों ने मामले को भड़काया, जिससे मारपीट हुई और कॉलेज का माहौल खराब हुआ. बुधवार को कमेटी ने प्रिंसिपल को अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी. वहीं कॉलेज में अनुशासन बनाए रखने के लिए दोषी पाए गए सभी 31 छात्रों पर कार्रवाई भी तय मानी जा रही है.

बवाल भड़का रहे थे स्टूडेंट्स

मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में पिछले महीने जूनियर और सीनियर स्टूडेंट्स के बीच मारपीट हुई थी, जिसमें जूनियर स्टूडेंट्स ने रैगिंग का आरोप लगाते हुए एंटी रैगिंग हेल्पलाइन पर शिकायत कर दी थी. उस समय कॉलेज प्रशासन ने मारपीट में संलिप्त 6 मेडिकल स्टूडेंट्स को सस्पेंड कर दिया था. साथ ही मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन भी किया. पूछताछ में पता चला कि हॉस्टल में झगड़े और मारपीट का माहौल काफी समय से था. जिसे कुछ स्टूडेंट्स ही गैंग बना कर भड़का रहे थे.

हॉस्टल से निकाले जाएंगे

जांच कमेटी के अध्यक्ष डॉ. आरसी गुप्ता ने बताया कि मामले में 31 मेडिकल स्टूडेंट्स को दोषी पाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की है. अब प्रिंसिपल और एंटी रैगिंग कमेटी कार्रवाई करेंगे. सूत्रों की माने तो 31 मेडिकल स्टूडेंट्स को एक महीने के लिए सस्पेंड करने के साथ ही उन्हें इस समय सीमा के लिए कॉलेज से भी निकाला जाएगा.