क्या हम बेवकूफ हैं ?

By: Inextlive | Inextlive Editorial Team

Publish Date: Mon 23-Apr-2012 06:38:32  |  Modified Date: Mon 23-Apr-2012 08:05:04

90 फीसदी भारतीयों को बेवकूफ बता चुके जस्टिस (रि.) मार्केंडेय काटजू ने अब कहा है कि 90 फीसदी भारतीयों के पास 'अनसाइंटिफिक टेंपर' है. उन्‍होंने 90 फीसदी भारतीयों को बेवकूफ बताते हुए वे कारण गिनाए हैं जिनके आधार पर वह इस नतीजे पर पहुंचे हैं.


क्या हम बेवकूफ हैं ?

काटजू ने कहा कि इंडिया में सबसे ज्‍यादा अंधविश्‍वास करने वाले लोग हैं. उन्होंने कहा कि ज्‍यादातर मंत्री और यहां तक कि हाई कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश अपने ज्‍योतिषियों से राय-मशविरा करके उनके द्वारा बताए गए मुहूर्त में ही शपथ ग्रहण करते हैं. उन्होंने कहा कि हमारा समाज बाबाओं से प्रभावित है.

काटजू के अनुसार हर रोज टीवी चैनलों पर अंधविश्‍वास को बढ़ावा देने वाले तमाम कार्यक्रम दिखाए जाते हैं. ब्रॉडकास्‍ट एडिटर्स एसोसिएशन इन्‍हें रोकने की बात करता है, लेकिन बाजार के दबाव में उन्‍हें रोका नहीं जा रहा है.काटजू का मानना है कि भारत में मीडिल क्लास का बौद्धिक स्‍तर काफी नीचा है. वे फिल्‍मी सितारों की जिंदगी, फैशन परेड, क्रिकेट और ज्‍योतिष से जुड़े कार्यक्रम ही पसंद करते हैं.

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट्स के लिए लाइक करें आईनेक्स्ट लाइव का Facebook पेज

Also See

comments powered by Disqus