IIT कानपुर ने बनाया अनमैंड हेलीकॉप्टर जो अफ्रीकी देशों में करेगा लोगों का 'इलाज'

By: Inextlive | Publish Date: Tue 10-Oct-2017 06:26:06
A- A+
IIT कानपुर ने बनाया अनमैंड हेलीकॉप्टर जो अफ्रीकी देशों में करेगा लोगों का 'इलाज'
आईआईटी कानपुर की टीम ने तैयार किया है अमेजिंग अनमैंड हेलीकॉप्टर, जो अफ्रीकी देशों में पेशेंट्स को दवा पहुंचाएगा। यूनीसेफ पहली बार इस तरह का प्रयोग करने जा रहा है। फरवरी में मलावी में होगा इस अनोखे हेलीकॉप्टर का प्रजेंटेशन।

I-Special

Kanpur (pradeep.tripathi@inext.co.in):

आईआईटी कानपुर का अनमैंड हेलीकॉप्टर अफ्रीकी देश मलावी में रोगियों को दवा पहुंचाने के साथ रोगियों का Žब्लड सैंपल लेकर लैब पहुंचाएगा। यह प्रयोग मलावी व यूनिसेफ मिलकर करने की तैयारी कर चुके हैं। यूनीसेफ व मलावी गवर्नमेंट ने अनमैंड हेलीकॉप्टर के लिए दुनिया भर से एप्‍लीकेशन कॉल की थी, यूनीसेफ ने आईआईटी की एप्‍लीकेशन को सेलेक्ट कर लिया है।

 

आईआईटी कानपुर के कम्‍प्‍यूटर साइंस के असिस्टेंट प्रोफेसर अभिषेक गुप्‍ता ने बताया कि यूनिसेफ अफ्रीका के मलावी मेंजिन एरियाज में ट्रांसपोर्टेशन के साधन नहीं हैं वहां पर रोगियों को दवा भेजने के लिए अनमैंड हेलीकॉप्टर का प्रयोग होगा। रोगी का Žब्‍लड सैंपल भी इसी माध्यम से लैब तक पहुंचाने का तैयारी की गई है। यूनीसेफ व अफ्रीका के मलावी गवर्नमेंट इस तरह का अनूठा प्रयोग करने जा रही है। अगर यह प्रयोग सफल रहता है तो फिर दुनिया के अन्य देशों में भी इस तरह का सुविधा जल्द ही शुरू की जाएगी। इस वीडियो में आप खुद देखिए कि यह अनमैंड हेलीकॉप्टर किस तरह से इन मुश्‍किल कामों को अंजाम देता है।

 

 

 

मिलिट्री ने अपने लिए किए थे ये 9 शानदार अविष्‍कार, अब हम-आप इनके बिना रह नहीं सकते


एक हेलीकॉप्टर पर 3 लाख खर्च

असिस्टेंट प्रोफेसर अभिषेक गुप्‍ता ने बताया कि अनमैंड हेलीकॉप्टर व ड्रोन पर काम साल 2013 से चल रहा है। फरवरी 2018 में अनमैंड हेलीकॉप्टर का प्रेजेंटेशन मलावी के 40 किलोमीटर के रेडियस में किया जाएगा। आईआईटी की टीम 4 अनमैंड हेलीकॉप्टर लेकर मलावी जाएगी। एक अनमैंड हेलीकॉप्टर को डेवलप करने में करीब 3 लाख रुपए का खर्च आता है।

हाईवे पर चलने वालों जान लो रोड पर बनी इन लाइनों का मतलब, कहीं देर ना हो जाए...

सितंबर में ग्रीन सिग्नल मिला
अनमैंड हेलीकॉप्टर को डेवलप करने में चार स्टूडेंट्स निधी, जायदीप भौमिक, अंकुर और सागर सेतु की टीम शामिल हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर अभिषेक गुप्‍ता और डॉ. मंगल कोठारी भी प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। अगस्त 2017 में यूनिसेफ व मलावी ने अनमैंड हेलीकॉप्टर के लिए एप्‍लीकेशन भेजी थी। सितंबर के सेकेंड वीक में आईआईटी के अनमैंड हेलीकॉप्टर को सेलेक्ट किया गया है।


एक ऐसा देश जहां आप ही नहीं स्विट्जरलैंड वाले भी रहना चाहते हैं! ये हैं खूबियां...

इस अनमैंड हेलीकॉप्टर की बेमिसाल खूबियां

-    140 किलोमीटर का सफर करेगा अनमैंड हेलीकॉप्टर एक बार में

 

-    2 घंटे तक हवा में रहेगा, वजन है करीब 9 किलोग्राम

 

-    3 किलोग्राम का लोड ले जा सकेगा यह एक बार में

 

National News inextlive from India News Desk

 

 

 

खबरें फटाफट