फरारी की ऐसी चाहत, शौक-शौक में खरीद डाली 330 करोड़ की कारें

By: Shweta Mishra | Publish Date: Fri 02-Dec-2016 02:32:02   |  Modified Date: Fri 02-Dec-2016 02:38:00
A- A+
फरारी की ऐसी चाहत, शौक-शौक में खरीद डाली 330 करोड़ की कारें
दुनिया में लोगों को किसी भी चीज का शौक हो सकता है। जिसमें किसी को कपड़े का तो किसी कॉइन जैसी चीजों को कलेक्‍ट करने की आदत होती है, कई बार तो लोगों के शौक बेहद अजीबो गरीब होते हैं। अब हाल ही में हांगकांग के एक शख्‍स का शॉकिंग शौक सामने आया है। इस व्‍यक्‍ति ने अपने शौक को पूरा करने में एक दो रुपये नही बल्‍कि 330 करोड़ खर्च कर डाले। आइए जानें क्‍या है वो शौक...

यकीन ही नहीं होता
जी हां आप भी डेविड ली का शौक सुनकर थोड़ी देर के लिए शॉकिंग मोड में चले जाएंगे। बहुत से लोगों को तो पहले तो यह सुनकर यकीन ही नहीं होता है, लेकिन बाद में हकीकत जानने के बाद भरोसा हो जाता है। हाल ही में हांगकांग के डेविड ली ने अपने शौक को लेकर बड़ा खुलासा किया है। डेविड ली का कहना है कि उन्‍हें कारों का बहुत शौक है। जिसमें फरारी तो बहुत ज्‍यादा पसंद है। आज उनके घर पर कई कारें खड़ी हैं। जिसमें फरारी की संख्‍या अधिक है। उनके शौक का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि उन्‍होंने कारों में अब तक अपने 330 अपने करोड़ रुपये खर्च कर डाले हैं।

गरीबी का भी जिक्र

डेविड ने अपने बचपन और गरीबी का भी जिक्र किया है। उनका कहना है कि वह पहले चीन में रहते थे लेकिन एक अच्‍छी जिंदगी जीने के लिए उनके पिता उन्‍हें लेकर हांगकांग में बस गए। 13 साल की उम्र में हांगकांग में उन्‍होंने भी अपने पिता के साथ मणि की नक्‍काशी करनी सीखी। मणि पर नक्‍काशी का काम काफी अच्‍छा चलने लगा। इसके बाद यहीं पर उनके पिता ने अपनी एक ज्‍वैलरी की दुकान खोली। 9 साल में यहां पर आर्थिक स्‍थिति अच्‍छी हो जाने के बाद उनके पिता अमेरिका चले गए। यहां पर उन्‍होंने पिता के साथ मिलकर काफी मेहनत की। जिसकी वजह से ही वह आज अपना कारों वाला शौक भी पूरा कर पा रहे हैं।

यहां भी क्‍लिक करें: पत्‍नी-बेटी की जगह जब इस शख्‍स ने कैमरे में कैद कर ली भूतनी

Weird News inextlive from Odd News Desk