delete

इंजीनियरिंग में इस बार ज्यादा सीटों पर मिलेगा एडमिशन

By: Inextlive | Publish Date: Mon 20-Mar-2017 07:40:16
- +

- देशभर के आईआईटी संस्थानों में बढ़ेंगी सीटें

- 460 अतिरिक्त सीटों को बढ़ाने का जेईई बोर्ड को भेजा प्रस्ताव

- एकेडमिक सेशन 2017- 18 में बड़ी सीटों पर मिलेगा एडमिशन

ravi.priya@inext.co.in

DEHRADUN: देशभर के आईआईटी संस्थानों में एडमिशन का ख्वाब देख रहे स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर है। जेईई एडवांस में एपियर होने वाले टॉप दो लाख बीस हजार कैंडिडेट्स के लिए इस बार ज्यादा सीटों पर एडमिशन का मौका होगा। बीते साल नई आईआईटी के बढ़ने के बाद अब इन संस्थानों में सीटें बढ़ाने की तैयारी है। संस्थानों की ओर से जेईई कमेटी को इसे लेकर प्रस्ताव भी भेजा है। सब ठीक रहा तो इसी सेशन में स्टूडेंट्स को निर्धारित सीटों से अलग तकरीबन ब्म्0 अतिरिक्त सीटों पर एडमिशन दिया जाएगा।

ख्क् मई को होना है एग्जाम

देशभर की ख्फ् इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) में एडमिशन हासिल करने के लिए कैंडिडेट्स को पहले जेईई मेंस की बाधा पार करनी है। जेईई मेंस क्वालिफाई करने वाले टॉप ख्.ख् लाख कैंडिडेट्स को जेईई एडवांस में बैठने का मौका मिलेगा। एडवांस एग्जाम क्लियर करने के बाद काउंसिलिंग के जरिए आईआईटी संस्थानों की सीटों पर एडमिशन दिया जाएगा। जेईई एडवांस एग्जाम ख्क् मई को आयोजित किया जाना है। एग्जाम का जिम्मा इस बार आईआईटी मद्रास को दिया गया है।

बढ़ी सीटों पर मिलेगा एडमिशन

बीते साल चार नई आईआईटी संस्थानों के बनने से स्टूडेंट्स को लास्ट इयर भी एक्स्ट्रा सीटों का लाभ हुआ था। लेकिन इस साल मौजूदा आईआईटी संस्थानों ने सीट इनटेक बढ़ाने का आग्रह किया है। इनमें ज्यादातर नई आईआईटी शामिल हैं। इनमें आईआईटी भुवनेश्वर, हैदराबाद, रोपड़, जम्मू, जोधपुर, पटना, इंदौर और मंडी शामिल हैं। जानकारों की मानें तो इन संस्थानों ने सीनेट और जेईई बोर्ड से करीब ब्म्0 सीटें बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भी भेजा है। बोर्ड की ओर से सीट बढ़ाने को लेकर कोई आपत्ति नहीं की गई है। ऐसे में अब सीनेट से ग्रीन सिग्नल मिलने के बाद यह संस्थान इसी सेशन से बढ़ी सीटों पर एडवांस क्वालिफाई करने वाले कैंडिडेट्स को एडमिशन देंगे। इसके अलावा जेईई एडवांस पास करने वाले कैंडिडेट्स को ख्फ् आईआईटी के साथ ही नौ अन्य संस्थानों में भी दाखिला का मौका होगा।

- - - - - - - - - - - - -

इस साल ख्फ् आईआईटी संस्थानों की सीटों पर एडमिशन होना है। लेकिन, अब अगर जिन संस्थानों ने सीटों को बढ़ाए जाने का प्रस्ताव भेजा है। उनमें सीटों बढ़ जाती हैं तो कैंडिडेट्स को बढ़ी सीटों पर भी इसी सेशन में एडमिशन दिया जाएगा। इससे ज्यादा कैंडिडेट्स को आईआईटी में पढ़ने का लाभ होगा। इसके अलावा कई अन्य संस्थान भी हैं जिनकी सीटों का फायदा भी एडवांस कैंडिडेट्स को मिलेगा.

- - - वैभव राय, एमडी, वीआर क्लासेज.

inextlive from Dehradun News Desk