प्रद्युम्न कांड का असर, पुलिस को रखनी होगी स्कूलों की कुंडली

By: Inextlive | Publish Date: Thu 14-Sep-2017 04:26:37   |  Modified Date: Thu 14-Sep-2017 04:28:26
A- A+
प्रद्युम्न कांड का असर, पुलिस को रखनी होगी स्कूलों की कुंडली
प्रद्युम्न कांड के बाद सीबीएसई ने प्रत्येक स्टॉफ का पुलिस वेरीफिकेशन कराने का निर्देश दिया

prakashmani.tripathi@inext.co.in

ALLAHABAD: स्कूल में काम करने वाले टीचिंग और नान टीचिंग स्टॉफ से लेकर स्कूल बस के चालक और क्लीनर तक की कुंडली अब थाने में होगी. सभी का वेरीफिकेशन अनिवार्य रूप से कराया जाएगा. इसके अलावा स्कूल में सिक्योरिटी सिस्टम को स्ट्रांग बनाने की कवायद शुरू हो गई है ताकि किसी दूसरे प्रद्युम्न को स्कूल में जान गंवानी न पड़े. सीबीएसई ने बुधवार को इस संबंध में स्पष्ट गाइड लाइन जारी कर दी और स्कूलों को इसे अनिवार्य रूप से फॉलो करने को कहा है.

 

पुलिस करेगी सेफ्टी आडिट

सीबीएसई की ओर से बच्चों की सेफ्टी के लिए जारी किए गए नई गाइड लाइन में स्कूल परिसर में सेफ्टी प्वाइंट ऑफ व्यू से उठाए गए नए सुरक्षा इंतजाम की पुलिस आडिट का निर्देश दिया गया है. इस आडिट का ब्यौरा बोर्ड की वेबसाइट www.cbse.nic.in पर अपलोड करना अनिवार्य होगा.

 

सीबीएसई का स्कूलों को निर्देश

स्कूलों में सुरक्षा इंतजाम के पुलिस से दो माह के भीतर आडिट कराएं

स्कूल में सभी स्थानों पर सीसीटीवी कैमरा लगाएं और इंश्योर करें कि कैमरे वर्क कर रहे हैं

स्कूल के सभी स्टॉफ का पुलिस वेरीफिकेशन कराएं

नॉन टीचिंग स्टॉफ का वेरीफिकेशन कराने के साथ इवैल्यूवेशन करें

अॅथ्राइज्ड एजेंसी से ही नॉन टीचिंग स्टॉफ हायर करें

उनके रिकार्ड मेंटेन है या नहीं, इस का भी पता करें

पैरेंट्स, टीचर्स और स्टूडेंट्स को मिलकर कमेटी का गठन करे

कमेटी से बच्चों की सेफ्टी को लेकर लगातार फीडबैंक ले

स्कूल परिसर में बाहर से आने वालों का डिटेल रजिस्टर में दर्ज कराने की व्यवस्था करें

स्कूलों में स्टॉफ को बच्चों की सेफ्टी को लेकर ट्रेनिंग की व्यवस्था की जाए

 

नॉन टीचिंग स्टॉफ का पुलिस वेरीफकेन पहले ही कराया गया है. सबको स्कूल से आईकार्ड इश्यू कराया जा रहा है. सीबीएसई की ओर से उठाया गया कदम बिलकुल सही है.

-अल्पना डे

प्रिंसिपल, गंगागुरुकुलम

 

गुरुग्राम की घटना के बाद पैरेंट्स को भी अवेयर किया जा रहा है कि वह सिक्योरिटी टिप्स को फॉलो करें. हमारे लिए हर बच्चा महत्वपूर्ण है और उसकी सुरक्षा की पूर्ण व्यवस्था करेंगे.

-सुष्मिता कानूनगो

प्रिंसिपल, एमपीवीएम

 

गेट से लेकर क्लास रूम तक बच्चों की सेक्योरिटी के इंतजाम हैं. सीबीएसई की ओर से जारी नई गाइड लाइन की लगभग सभी बातों को पहले से फॉलो किया जा रहा है.

-जया सिंह

प्रिंसिपल, डीपी पब्लिक स्कूल

 

स्कूल में बच्चों की सेक्योरिटी के लिए सभी जरूरी कदम उठाए गए हैं. विजिटर की इंट्री, सीसीटीवी कैमरा और छुट्टी के समय मार्शल तैनात करने की व्यवस्था पहले से है. सीबीएसई के नियमों का लगातार फॉलो किया जा रहा है.

डा. योगेश तिवारी

एकेडमिक डायरेक्टर, बाल भारती स्कूल एंड कालेज