स्वास्थ्य संबंधी कारण बने आधार
पीएम एबी ने कहा, स्वास्थ्य कारणों से 83 वर्षीय लोकप्रिय सम्राट के पदमुक्त होने की तारीख पर शाही परिषद की विशेष बैठक में निर्णय लिया गया। वह बिना किसी बाधा के लिए गए इस निर्णय से बेहद प्रभावित हैं। सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करेगी कि जापान के लोग सम्राट के गद्दी छोडऩे और उत्तराधिकारी प्रिंस क्राउन के गद्दी संभालने का उत्सव मना सकें। अकिहितो के बड़े बेटे 57 वर्षीय प्रिंस क्राउन उनके पदमुक्त होने के अगले दिन राजगद्दी पर आसीन होंगे।

खराब सेहत का दिया था हवाला
अकिहितो ने पिछले साल उम्र और खराब सेहत का हवाला देकर शाही दायित्वों से मुक्ति की इच्छा जताकर सबको चौंका दिया था। प्रोस्टेट कैंसर से जूझ रहे अकिहितो हार्ट सर्जरी भी करा चुके हैं। वह पिछले करीब तीन दशक से सम्राट हैं।

बनाया गया नया कानून
सम्राट के इस अप्रत्याशित कदम से चुनौतियां खड़ी हो गई थीं क्योंकि ऐसा कोई कानून नहीं था जिसमें सम्राट की सेवानिवृत्ति के लिए कोई व्यवस्था हो। ऐसी स्थिति में विशेष विधेयक लाकर सम्राट की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की इच्छा को पूरा करने का फैसला किया गया। इसके लिए इस साल जून में संसद से विधेयक पारित कराकर नया कानून बनाया गया।

International News inextlive from World News Desk