मालूम है? बिना सिमकार्ड और GPS के भी एंड्राएड फोन ट्रैक करता है आपकी लोकेशन

By: Chandra Mohan Mishra | Publish Date: Wed 22-Nov-2017 07:05:01
A- A+
मालूम है? बिना सिमकार्ड और GPS के भी एंड्राएड फोन ट्रैक करता है आपकी लोकेशन
गूगल हर वक्‍त हमारी आपकी लोकेशन को ट्रैक करता है या नहीं! यह बहस कई सालों से चल रही है, लेकिन अब तक इस मामले पर एंड्राएड फोन यूजर्स के बीच चिक चिक कम नहीं हुई है। पर हाल ही में आई एक नई रिसर्च में जो पता चला है वो आपको चौंका देगा, क्‍योंकि रिपोर्ट के मुताबिक एंड्राएड फोन बिना सिमकार्ड के और लोकेशन सर्विस ऑफ होने के बाद भी गूगल को आपकी लोकेशन बताता रहता है।

गूगल आपकी परमीशन के बिना भी ट्रैक करता है आपकी लोकेशन
एंड्राएड स्‍मार्टफोन यूज करने वाले किसी यूजर्स को अगर ऐसा लगता है कि बिना परमीशन के गूगल उनकी लोकेशन और तमाम हैबिट्स को ट्रैक नहीं करता है, तो जनाब यह आपकी गलतफहमी है। क्‍योंकि अमेरिका के फेमस पब्लिकेशन क्वॉर्ट्ज द्वारा किए गए एक इंवेस्‍टीगेशन के मुताबिक अगर किसी यूजर ने अपने फोन में लोकेशन सर्विस को डिसेबल भी कर रखा है, तब भी सभी एंड्राएड डिवायसेस यानि स्‍मार्टफोन और टैबलेट गूगल को यूजर लोकेशन भेजते रहते हैं। वैसे आपको बता दें कि यह लोकेशन यूजर की नहीं बल्‍कि उस नजदीकि मोबाइल टॉवर की होती है, जिससे वो जुड़ा होता है।

 

Tech news in Hindi, android, android phone, android location service, google location service, google maps, GPS, android gps service, google gps,

 

बिना सिमकार्ड वाले फोन की लोकेशन भी होती है ट्रैक
क्वॉर्ट्ज के इस इंवेस्‍टीगेशन के मुताबिक, एंड्राएड फोन का यह लोकेशन ट्रैकिंग सिस्‍टम बिना सिमकार्ड वाले फोन में भी काम करता है। कहने का मतलब यह है कि अगर आप अपने फोन में बिना सिमकार्ड के सिर्फ वाईफाई यूज कर रहे हैं और फोन की लोकेशन सर्विस डिसेबल है, तब भी गूगल को आपकी एरिया लोकेशन लगातार मिलती रहती है। मजेदार बात तो यह है कि एंड्राएड फोन को फैक्‍टरी रिसेट करने के बाद भी गूगल की लोकेशन सर्विस काम करती रहती है।

 

बिना परमीशन लोकेशन ट्रैकिंग की बात गूगल ने की एक्‍सेप्‍ट
क्वॉर्ट्ज ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि जब उन्‍होंने गूगल से इस बारे में पूछा तो गूगल ने जवाब में बताया कि हां हम ऐसा करते हैं। हालांकि गूगल का दावा है कि बिना परमीशन यूजर की इस लोकेशन ट्रैकिंग का कंपनी कोई इस्‍तेमाल नहीं करती। वैसे गूगल ने बताया कि इस लोकेशन ट्रैकिंग डेटा द्वारा विज्ञापन करने वाली कंपनियों को टार्गेट कस्‍टमर तक पहुंचने में मदद मिलती है। इस लोकेशन द्वारा हमें यह पता चलता रहता है कि कोई यूजर कोई सामान खरीदने या खाना खाने किस दुकान या रेस्‍टोरेंट में जाता है।

Technology News inextlive from Technology News Desk