- पार्किंग के ठेके के लिए रेलवे ने निकला टेंडर

- 3 वर्ष के कॉन्ट्रैक्ट पर दिया जाएगा ठेका

BAREILLY:

जंक्शन के बाहर बेतरतीब खड़े होने वाले ऑटो की भीड़ रेल यात्रियों की राह में अब मुसीबत नहीं बनेगी. जल्द ही इस समस्या से निजात मिलेगी. ट्रैफिक जाम की समस्या से निपटने के लिए रेलवे ऑटो व टेम्पो को खड़ा करने के लिए पार्किंग की व्यवस्था करने जा रहा है. इसे चलाने के लिए रेलवे ने टेंडर भी निकाल दिए हैं.

एक जगह खड़े होंगे ऑटो

रेलवे ने पार्किंग का ठेका देने के लिए मार्च में टेंडर निकाला था. टेंडर को ओपेन भी कर दिया गया है. सूत्रों की मानें तो जो कार पार्किंग चला रहे हैं, वही ठेकेदार ऑटो पार्किंग भी देखेंगे. जिनकी जिम्मेदारी जंक्शन पर यात्रियों को लेकर आने और जाने वाले ऑटो को एक जगह पार्किंग में खड़ा करवाने की होगी. जिसके बाद ऑटो क्रम वाइज यात्रियों को लेकर बाहर निकलेंगे.

30 रुपए रोज का पार्किंग शुल्क

पार्किंग का ऑटो चालकों को प्रतिदिन के हिसाब से 30 रुपए देना होगा. जबकि, महीने का 1010 रुपए पार्किंग शुल्क होगी. पार्किंग शुल्क नहीं देने वाले और जंक्शन के सरकुलेटिंग एरिया में बेतरतीब ऑटो व टेम्पो खड़ा करने वाले चालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि बरेली जंक्शन से बदायूं रोड, चौपुला, सेटेलाइट आदि रूट्स के लिए 1000 से अधिक ऑटो व टेम्पो चलते हैं.

ट्रैफिक जाम से ट्रेन पकड़ना मुश्किल

फिलहाल, ऑटो की भीड़ के कारण जंक्शन मेन एंट्री गेट से प्लेटफॉर्म और टिकट रिजर्वेशन काउंटर पर पहुंचना मुश्किल हो जाता है. जंक्शन के बाहर ऑटो आड़े तिरछे खडे़ होने से पूरा एरिया ब्लॉक हो जाता है. कोई भी सड़क तक नहीं आ पाता है. यही नहीं हनुमान मंदिर के छोर से जंक्शन की तरफ पहुंचना भी मुश्किल हो जाता है. जिससे कभी-कभी यात्रियों की ट्रेन तक छूट जाती है.

ऑटो को अब पार्किंग में ही खड़ा करना होगा. इसके लिए टेंडर निकाला गया है. सरकुलेटिंग एरिया में नजर आने वाले ऑटो चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

संजीव दुबे, सीएमआई, बरेली जंक्शन