16 गुणा अधिक कमाई
बता दें कि 45 दिनों तक चलने वाले आईपीएल से बोर्ड को होने वाला मुनाफा साल में आयोजित होने वाले अन्य कार्यक्रमों की तुलना में 16 गुना होगा। ख़ास बात ये है कि बोर्ड का यह मुनाफा इस साल होने वाले कार्यक्रम के सभी खर्चों को अलग करने के बाद होने वाला है।

Ind vs Sa क्या इस मैच के बाद टीम इंडिया आकड़े बदलने में होगी कामयाब!

कमाई में बढ़ रही आईपीएल की हिस्सेदारी
चालू वित्तीय वर्ष में बीसीसीआई का 60 प्रतिशत सरप्लस आईपीएल से आएगा। कुल सरप्लस 670 करोड़ रुपए होने की उम्मीद है। अगले वित्तींय वर्ष में कुल सरप्लस में आईपीएल की हिस्सेदारी बढ़कर 95 प्रतिशत होने की उम्मीद है। बीसीसीआई का मानना है कि इस बार बोर्ड को आईपीएल से 2017 करोड़ रुपये सरप्लस के रूप में प्राप्त हो सकते हैं, वहीं पिछले साल सरप्लस 400 करोड़ रुपये था।

विजय हजारे ट्रॉफी में इशान ने सात छक्के लगाकर तोड़ा धौनी का रिकॉर्ड

प्रसारण अधिकार बेचने से बड़ा मुनाफा

बीसीसीआई ने आईपीएल के प्रसारण अधिकार अगले पांच साल के लिए 16,347 करोड़ रुपए में बेचे हैं। इससे उसकी आमदनी में भारी बढ़ोतरी हुई है। 2008 में हुई नीलामी में आईपीएल के प्रसारण अधिकार पांच साल के लिए 8200 करोड़ रुपए में बेचे गए थे।

Ind vs Sa सकरात्मक रहा नतीजा तो ये भारतीय खिलाड़ी हो सकते हैं मैच ऑफ द मैच के दावेदार

Cricket News inextlive from Cricket News Desk