यूपी में 'पद्मावत' मूवी को लेकर डीजीपी ने जारी की एडवाइजरी

By: Chandra Mohan Mishra | Publish Date: Thu 25-Jan-2018 08:03:03
A- A+
यूपी में 'पद्मावत' मूवी को लेकर डीजीपी ने जारी की एडवाइजरी
पूरे प्रदेश में एलआईयू को शरारती तत्वों पर निगाह रखने के निर्देश। सिनेमा दिखाने वाले मल्टीप्लेक्स व थियेटर में तैनात होगी अतिरिक्त फोर्स।

LUCKNOW (24 Jan): पद्मावत फिल्म को लेकर देशभर में मचे घमासान को देखते हुए एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने सभी पुलिस कप्तानों के लिये एडवाइजरी जारी की है। जिसमें फिल्म के विरोध की आड़ में हिंसा फैलाने वाले प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के साथ ही सिनेमा दिखाने वाले मल्टीप्लेक्स व थियेटरों पर अतिरिक्त फोर्स तैनात करने के निर्देश दिये गए हैं।

 

विरोध को शांतिपूर्ण रखने पर दिया जोर

जारी एडवाइजरी में पुलिस कप्तानों को निर्देश दिया गया है कि जिन सिनेमाघरों व मल्टीप्लेक्स में पद्मावत फिल्म दिखाई जाएगी उसके प्रबंधकों व सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों की पूर्व में बैठक कर ली जाए। संभावित प्रदर्शन को देखते हुए जिलों के सभी थाना प्रभारी, सर्किल ऑफिसर, एडिशनल एसपी लगातार भ्रमणशील रहकर हालात पर सतर्क नजर रखें ताकि, किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति उत्पन्न न होने पाए। इसके अलावा लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (एलआईयू) के अधिकारियों व कर्मचारियों को सतर्क किया जाए कि वे शरारती तत्वों पर कड़ी नजर रखें और प्राप्त सूचनाओं के आधार पर समय रहते उपद्रवियों पर निरोधात्मक कार्रवाई सुनिश्चित करायें।

 

Padmaavat, Padmavat movie, Padmavati movie, Padmavati controversy, Padmavat review, Padmavat release date, Padmavat wiki, Padmavat news, Padmavat release in UP, cinema halls in UP, multiplex, UP news, entertainment news

 

कानून हाथ में लेने वालों से सख्‍ती से निपटें

आदेश में कहा गया है कि किसी भी आकस्मिक परिस्थिति से निपटने के लिये पहले से आपातकालीन योजना बना ली जाए। एडवाइजरी में निर्देश दिया गया है कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में जनता द्वारा शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन किया जा सकता है। अगर किसी व्यक्ति, जातीय या राजनैतिक संगठन कानून हाथ में लेने की कोशिश करे तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए। पुलिस कप्तानों को यह भी निर्देश दिया गया है कि जिन संगठनों द्वारा इस फिल्म के प्रदर्शन का विरोध किया जाना संभावित है, उनसे पहले ही संपर्क स्थापित कर लें ताकि, उनका विरोध शांतिपूर्ण रहे और कोई शरारती तत्व इस प्रदर्शन की आड़ में हिंसा न फैला सके।

National News inextlive from India News Desk

खबरें फटाफट