भारत में पहली बार हुआ 5G का सक्‍सेसफुल टेस्‍ट

बता दें के एयरटेल और Huawei द्वारा किया गया यह 5जी टेस्‍ट भारत में इस टेक्‍नोलॉजी पर हुआ पहला सफल परीक्षण है, जिसमें दोनों कंप‍नियों की संयुक्‍त भागीदारी है। एयरटेल के नेटवर्क हेड के हवाले से बताया गया है कि एयरटेल अपने तकनीकी साझेदार हुवावे के साथ मिलकर 5जी तकनीक पर हर तरह का रिसर्च - डेवलपमेंट का काम कर रही है। 5जी तकनीक से हम उम्‍मीद करतें हैं कि ये वर्तमान में प्रचलित 4जी नेटवर्क से करीब 100 गुना ज्‍यादा फास्‍ट नेटवर्क स्‍पीड प्रदान कर सकेगी। दोनों कंपनियां मिलकर 5जी नेटवर्क को 2020 तक देश में शुरु करने को लेकर जुटे हुए है। हमारे इस नए प्रयोग की सफलता ने 5जी तकनीक को आम लोगों तक पहुंचाने की इस दिशा में हमारी गति और बढ़ा दी है।

एयरटेल और huawei ने भारत में किया 5g का सक्‍सेसफुल ट्रायल,स्‍पीड जानकर दिल खुश हो जाएगा

भारत में LED बल्‍ब से चलेगा दुनिया का सबसे तेज इंटरनेट, स्‍पीड होगी इतनी जो आप सोच भी नहीं सकते!

ट्रायल के दौरान मिली 3 GBPS की शानदार स्‍पीड

एयरटेल और हुवावे द्वारा किए गए इस 5जी टेस्‍ट में 3 गीगाबाइट पर सेकेंड की स्‍पीड प्राप्‍त हुई, जो वर्तमान में यूज हो रही है 4G तकनीक से कई गुना ज्‍यादा थी। तकनीकि शब्‍दों में बताएं तो इस टेस्‍ट के दौरान 3.5 गीगाहर्ट्ज बैंड पर 100 मेगाहर्ट्ज बैंडविथ के साथ प्राप्‍त की यह सबसे तेज स्‍पीड है। साथ ही इस टेस्‍ट में End to End नेटवर्क लेटेंसी 1 मिलीसेंकेड रही, जो बहुत शानदार रही।

5G इंटरनेट लॉंच करने में भारत लड़ेगा इन 5 देशों से, देखें कौन आता है फर्स्‍ट?

देश में 5जी सर्विस शुरु करने को लेकर केंद्र सरकार भी उठा चुकी है ये कदम

देश में 5जी सर्विस शुरू करने को लेकर केंद्र सरकार ने एक हाई लेवल 5जी कमेटी का गठन किया है। जो साल 2020 तक इस नई कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी को लागू कराने की पूरी रूपरेखा तैयार करेगी। इस संबध में संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बताया था कि देश में 5जी सर्विस शुरु करने को लेकर जो कमेटी बनाई गई है, वो 5जी के बारे में दुनिया भर के सभी मानदंडों को फॉलो करते हुए मिशन पूरा करने का प्रयास करेगी। उनका कहना है कि साल 2020 में दुनिया के तमाम देश 5जी टेक्नोलॉजी लागू करेंगे और हमारी पूरी कोशिश है कि भारत भी उनके साथ कंधे से कंधे मिलाकर खड़ा हो। 5जी सर्विस को देश में लागू करने के लिए बनाई गई इस हाई लेवल कमेटी में टेलीकॉम, आईटी मिनिस्ट्री, इलेक्ट्रॉनिक्स और विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी विभाग से जुड़े अधिकारी शामिल हैं। अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक देश में 5जी सर्विस शुरू करने के लिए सरकार तकरीबन 500 करोड़ रुपए का बजट निकालने की कोशिश कर रही है। इस बजट का अधिकतर पैसा 5जी टेक्नोलॉजी के रिसर्च एंड डेवलपमेंट पर खर्च होगा। सरकार शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी 5जी सर्विस लांच करने का लक्ष्य लेकर चल रही है।


आ रहा है Google स्‍मार्ट Reply ऐप, जो व्‍हाट्सऐप, फेसबुक और Hangouts पर खुद ही भेज देगा आपके दिल से निकला मैसेज

Technology News inextlive from Technology News Desk