Ranchi: पुलिस को आशंका है कि जब युवती ने अपने प्रेमी की हत्या किए जाने की असलियत पुलिस को बताने की बात कही होगी तो परिजनों ने उसे जलाकर मार दिया. ओनर किलिंग के इस मामले में पुलिस ने प्रेमिका के पिता राजू, चाचा बीरबल, फुफेरे भाई छोटेलाल और बंधुलाल को धनबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. मालूम हो कि प्रेमी योगेश रांची के रामटहल चौधरी इंटर कॉलेज का स्टूडेंट था. साथ ही प्रेमी-प्रेमिका दोनों ही धनबाद के पुटकी के रहने वाले थे.

परिजनों ने क्या कहा

युवती की मां फूलदेवी के मुताबिक, रात में वे सभी साथ में बैठकर खाना खाए थे. इसके बाद वह अपने कमरे में सोने के लिए चली गई. मंगलवार की सुबह देखा कि किचन में उसकी अधजली लाश पड़ी हुई है. इधर, पुलिस का कहना है कि घर में इतनी बड़ी घटना हो गई और परिजनों को इसकी भनक तक नहीं लगी, भला ऐसा कैसे हो सकता है. हो न हो, उसकी हत्या की साजिश रची गई. वैसे, छानबीन के बाद ही युवती की मौत की वजह सामने आ पाएगी.

रेलवे ट्रैक से मिला था योगेश का शव

गौरतलब है कि पिछले साल 19 नवबंर को बोकारो के दुग्धा के पास एक रेलवे ट्रैक से योगेश का शव पुलिस ने बरामद किया था. इस मामले की जांच के दौरान उसके एक युवती के साथ प्रेम संबंध होने की बात सामने आई थी. ऐसे में जब युवती के परिजनों से पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने इसे सुसाइड से जोड़ दिया था. उनका कहना था कि युवक के परिजन जान के बदले जान लेने की धमकी देते रहते थे. इसी वजह से उन्होंने युवती को उसके मामा के घर भेज दिया था.

क्या है पूरा मामला

युवक योगेश के पिता देवेन महतो ने थाने में जो रिपोर्ट दर्ज कराई थी उसके मुताबिक, उनकेबेटे का लव अफेयर पड़ोस में ही रहने वाली एक युवती के साथ था. हालांकि, योगेश रांची के रामटहल चौधरी इंटर कॉलेज से पढ़ाई कर रहा था. कॉलेज के हॉस्टल से योगेश 15 नवंबर की शाम से गायब था. इसकी गुमशुदगी की लिखित शिकायत टाउन थाना रांची में दर्ज है. वहीं, लड़की फागू महतो इंटर कॉलेज कपुरिया में पढ़ती थी. जो 16 नवंबर को अपने घर से गायब हो गई थी. लेकिन, 19 नवंबर को योगेश की लाश बोकारो के दुग्धा रेलवे स्टेशन के पास से बरामद की गई थी. मृतक योगेश के पिता के मुताबिक 18 की रात योगेश को पीट-पीटकर मार डाला और शव को रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक दिया था.