BAREILLY: कोलकाता स्थित बीएसएनएल ऑफिस में सीजीएम के पद पर तैनात वीएल वाष्र्णेय की पत्नी नीलम वाष्र्णेय ने कुछ लोगों के साथ मिलकर राजेंद्र नगर एक्सचेंज की 1 करोड़ रुपए कीमती की सम्पत्ति चोरी कर ली. मामले की भनक जब विभाग के अधिकारियों को लगी तो हो-हल्ला मच गया. नीलम सहित तीन अन्य लोगों के खिलाफ प्रेमनगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

ताला बंद सामान हो गए गायब

दरअसल, बीएसएनएल ने एक्सचेंज के लिए भवन के स्वामी अयोध्या प्रसाद गुप्ता से राजेंद्र नगर ए ब्लॉक में वर्ष 1985 में किराए पर मकान लिया था. इनके मृत्यु के बाद भवन पर अयोध्या प्रसाद की संतान नीलम वाष्र्णेय, सुषमा लता, मुकेश गुप्ता और राकेश कुमार के पास भवन का पूर्ण अधिकार आ गया है, जिसके बाद किराए का विवाद को संबंधित भू-भाग के मालिक मुकेश गुप्ता ने परिसर के मेन गेट पर 7 अक्टूबर 2016 को एक्सचेंज में ताला जड़ दिया. ताला बंद रहते हुए भी एक्सचेंज में पड़े कीमती सामान को चोरी हो गई, जिसमें बीएसएनएल की करीब 1 करोड़ रुपए की सम्पत्ति चोरी हुई हैं. जिसमें कोलकाता में तैनात बीएसएनएल के सीजीएम वीएल वाष्र्णेय की पत्नी नीलम वाष्र्णेय और बाकी तीनों सुषमा लता, मुकेश कुमार गुप्ता और राजेश कुमार के हाथ है.

एग्रीमेंट के बाद मन में आ गया लालच

हालांकि, एक्सचेंज पर ताला लग जाने से राजेंद्र नगर, त्रिशूल हवाई अड्डा और इज्जतनगर रेलवे कंट्रोल रूम की सर्विस ठप पड़ जाने से बीएसएनएल के अधिकारी किराया बढ़ाने के लिए नए एग्रीमेंट के लिए तैयार भी हो गए. 5 वर्ष के लिए करीब 24 लाख रुपए पर बात बनी. 19 लाख रुपए बीएसएनएल ने जमा भी कर दिया, लेकिन बाद में चारों भवन स्वामियों के मन में लालच आ गया और 2 करोड़ रुपए की मांग कर बैठे. जिसके बाद एग्रीमेंट की गाड़ी आगे नहीं बढ़ी. लिहाजा, एक्सचेंज में ताला पड़ा ही रहा और अधिकारियों को राजेंद्र नगर, त्रिशूल हवाई अड्डा और इज्जतनगर रेलवे कंट्रोल रूम को स्टेडियम रोड स्थित एक्सचेंज से सर्विस देने की व्यवस्था करनी पड़ी.

वर्ष भर पुलिस से रिपोर्ट दर्ज नहीं की

मजे की बात यह है कि करीब एक करोड़ का सामान चोरी होने के बाद भी प्रेमनगर थाने की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करना मुनासिब नहीं समझा. जबकि, 13 अक्टूबर 2016 से रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए अप्लीकेशन लेकर बीएसएनएल के अधिकारी थाने का चक्कर लगाते रहे. पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने हस्तक्षेप किया तो एक वर्ष बाद प्रेमनगर थाने की पुलिस ने 26 मार्च 2018 को जाकर चारों आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की.

इन पर दर्ज हुआ एफआईआर

- सुषमा लता पति राकेश कुमार गुप्ता.

- मुकेश कुमार गुप्ता पिता अयोध्या प्रसाद गुप्ता.

- नीलम वाष्र्णेय पति वीएल वाष्र्णेय.

- राजेश कुमार पिता अयोध्या प्रसाद गुप्ता.

यह सामान चोरी

- जेनरेटर 62 केवीए, 2 टन की 5 एसी, 5 कम्प्यूटर, बैटरी 1,000 एम्पियर की 2 और 400 एम्पियर की 2, रक्षा उपकरण, रेलवे ट्रांसमिशन, बीटीएस के सामान, ब्रॉडबैंड, ट्रांसमिशन और फर्नीचर सहित अन्य सामान.

राजेंद्र नगर एक्सचेंज में जो सामान रखे थे वह चोरी हो गए हैं. जिसमें चार लोगों के नाम सामने आए हैं. जिनके खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज करा दी गई है. फिलहाल, चोरी गए सामान की रिकवरी नहीं हुई है.

चरण सिंह, जीएम, बीएसएनएल

Crime News inextlive from Crime News Desk