कानपुर में दिनदहाड़े बिल्डर और नौकर को दौड़ाकर गला काटा

By: Inextlive | Publish Date: Thu 30-Nov-2017 02:47:55   |  Modified Date: Thu 30-Nov-2017 02:51:48
A- A+
कानपुर में दिनदहाड़े बिल्डर और नौकर को दौड़ाकर गला काटा
- महेश्वरी मोहाल में भाजपा से जुड़े बिल्डर और साथ में जा रहे नाबालिग नौकर पर घात लगाकर किया हमला - ज्ञानेश्वर मंदिर के पास हुई वारदात, बचने के लिए भागे 16 साल के नौकर को भी नहीं छोड़ा - हिस्ट्रीशीटर रह चुके बिल्डर से क्षेत्र के ही एक सफाई नायक की थी रंजिश, सफाई नायक समेत तीन पर आरोप, कई हिरासत में

kanpur@inext.co.in KANPUR:

शहर की कानून व्यवस्था को बदमाशों ने एक बार दिन-दहाड़े चुनौती दी. शहर के भीड़भाड़ वाले महेश्वरी मोहाल इलाके में बुधवार दोपहर बिल्डर समेत दो लोगों की गला काट कर हत्या कर दी गई. दिन दहाड़े हुई इस वारदात से पूरे क्षेत्र में दहशत फैल गई. नौकर के साथ स्कूटी से जा रहे बिल्डर को गली में घात लगा कर मारा गया. इस दौरान नौकर ने भागने का प्रयास किया तो उसका भी दौड़ा कर गला काट दिया. पुलिस ने जांच शुरू की तो तीन लोगों के नाम सामने आए. क्षेत्र के ही एक सफाई नायक के इस पूरी वारदात को अंजाम देने की पुष्टि हुई है. जिस बिल्डर की हत्या हुई वह खुद भी हिस्ट्रीशीटर रह चुका है, लेकिन वर्तमान समय में कंस्ट्रक्शन कंपनी के साथ प्रापर्टी डीलिंग का काम कर रहा था. वह भाजपा से भी जुड़ा था. वहीं पुलिस ने सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.

 

भाजपा से जुड़ा था बिल्डर

महेश्वरी मोहाल निवासी सतीश कश्यप (50) उर्फ छोटे बब्बन मौजूदा समय में कंस्ट्रक्शन व प्रापर्टी डीलिंग का काम करते थे. घर में पत्‍‌नी बीना, दो बेटियां मीनाक्षी व आकांक्षा और बेटा अमन हैं. अमन व आकांक्षा पिता के साथ ऑफिस देखते थे. छोटे बब्बन के बारे में बताया गया कि वह भी हिस्ट्रीशीटर रह चुके हैं, लेकिन बेटे के एक्सीडेंट के बाद से काफी बदल गए थे. मौजूदा समय में वह भाजपा से जुड़े थे. आफिस का काम देखने के लिए उन्होंने इटावा बाजार में ही रहने वाले रमेश पांडेय के बेटे ऋषभ पांडेय (16) को अपने साथ रखा था. घात लगा कर किया हमला दोपहर क्ख् बजे ऋषभ और छोटे बब्बन स्कूटी से ऑफिस की तरफ आ रहे थे. इसी दौरान ज्ञानेश्वर मंदिर के पास गली में घात लगा कर उन पर धारदार हथियार से हमला हुआ. हमले से लहूलुहान छोटे बब्बन तो नाली में ही गिर पड़े तो उन पर ताबड़तोड़ कई बार धारदार हथियार से वार हुए. इस दौरान ऋषभ ने बच कर गली में ही भागने का प्रयास किया तो हत्यारोपियों ने उसे दौड़ा लिया. आगे गली बंद होने पर उसने कुछ घरों का दरवाजा भी खटखटाया, लेकिन किसी ने मदद नहीं की. इसी बीच कातिल ने गली के कोने में गिरा कर उस पर भी ताबड़तोड़ वार किए और भाग निकला. आनन फानन में लोग ऋषभ को उर्सला ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया. वहीं छोटे बब्बन को हैलट इमरजेंसी में डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया.

 

15 दिन पहले दी थी धमकी

छोटे बब्बन के कत्ल के बाद उनके घर में चीख पुकार मची. इस दौरान बेटी आकंाक्षा सामने आई. उन्होंने आरोप लगाया कि इलाके में रहने वाले उमेश व दिनेश कश्यप ने सफाई नायक शिव पर्वत से उनके पिता की हत्या कराई है. इसके पीछे की वजह डेढ़ साल पुराना विवाद बताया गया. जिसको लेकर दोनों छोटे बब्बन से रंजिश रखते थे. वहीं सफाई नायक शिव पर्वत पर आरोप लगाया कि उसने क्भ् दिन पहले फोन पर गला काट देने की धमकी दी थी. जिसकी छोटे बब्बन ने पुलिस से शिकायत की. पुलिस ने दोनों के बीच समझौता भी करा दिया था. इसके बाद भी ये वारदात हो गई. उधर, कत्ल की एक और वजह सामने आई है. जिसमें शिव पर्वत के किसी महिला से संबंधों को लेकर छोटे बब्बन से रंजिश रखने की बात पता चली है. छोटे बब्बन ने उस महिला की शादी कहीं और तय करा दी थी, जिसे लेकर वह बब्बन से रंजिश मानता था. वर्जन- मामले में जिन लोगों के नाम सामने आए हैं. उनमें से कई को हिरासत में ले लिया गया है. परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है, लेकिन आरोपियों को देखने पर पहचानने की बात भी कही है. सारे एविडेंस कलेक्ट कर मामले का जल्द खुलासा किया जाएगा. - अखिलेश कुमार, एसएसपी, कानपुर नगर