delete

सीबीआई का शिकंजा कसना शुरू

By: Inextlive | Publish Date: Fri 17-Feb-2017 07:40:40
- +

- व्यापमं घोटाले में जमानत पर चल रहे जीएसवीएम के एक आरोपी स्टूडेंट से हुई, कई और से पूछताछ की तैयारी

KANPUR: व्यापमं घोटाले में सुप्रीम कोर्ट के 600 से ज्यादा मेडिकल स्टूडेंट्स के एडमिशन निरस्त करने के फैसले के बाद अब सॉल्वर्स की शामत भी आ गई है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तुरंत बाद सीबीआई ने जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज से पेपर सॉल्वर बनने के आरोप में गिरफ्तार हो चुके एक मेडिकल स्टूडेंट से पूछताछ की। इसके अलावा 2013 से पहले के बैच के कई स्टूडेंट्स से भी सीबीआई दोबारा पूछताछ करने की तैयारी में है।

भोपाल में हुइर् पूछताछ

व्यापमं घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के 2011 बैच के स्टूडेंट उमेश कुमार को तलब किया था। मालूम हो कि घोटाले में आरोपी यह छात्र जमानत पर चल रहा है। और एमबीबीएस फाइनल ईयर का बताया जा रहा है। भोपाल में उससे पूछताछ के बाद गुरुवार को वह वापस लौट आया। सूत्रों की माने तो उसे और उसके ही बैच के कई दूसरे स्टूडेंट्स को पूछताछ के लिए दोबारा बुलाया जा सकता है।

2009 से 2012 बैच के स्टूडेंट्स पर निगाह

मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने जिन मेडिकल स्टूडेंट्स के एडमिशन रद्द करने के आदेश दिए हैं। उनमें से ज्यादातर स्टूडेंट्स 2008 से 2012 बैच के हैं। इस वजह से अब उन स्टूडेंट्स की जगह सॉल्वर बन कर परीक्षा देने वाले कई छात्रों पर भी सीबीआई की निगाह टेढ़ी हो गई है। ऐसे में अब जीएसवीएम व यूपी के कई मेडिकल कॉलेजों में 2008 से 2012 बैच के वह स्टूडेंट्स जो पेपर सॉल्वर बने थे वह भी अब निशाने पर हैं। और इनसे अब सीबीआई दोबारा पूछताछ कर सकती है।

inextlive from Kanpur News Desk

Webtitle : CBI Tightened Screws