भारतीय जनता पार्टी के प्रचंड बहुमत हासिल करने के बाद योगी आदित्यनाथ ने रविवार को विधिवत मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभाल लिया. योगी के मंत्रीमंडल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र को भी खासा तवज्जो दी गई है. शिवपुर विधानसभा सीट से जीत हासिल करने वाले अनिल राजभर और शहर दक्षिणी से कठिन लड़ायी जीतने वाले डॉ. नीलकंठ तिवारी को मंत्रीमंडल में जगह मिली है. इससे बनारस गदगद है. वहीं विधायक से मंत्री बने नेताओं के परिवार और उनके समर्थकों में जश्न का माहौल है.

छलक आए मां के आंखों से आंसू

-शहर दक्षिणी से कांग्रेस के कद्दावर नेता राजेश मिश्रा को हराने वाले नीलकंठ बने योगी सरकार में मंत्री

-खुशी से झूम उठा परिवार, समर्थकों में जबरदस्त उत्साह

VARANASI

सुदामापुर निवासी रिटायर्ड पुलिस अधिकारी ओमकार नाथ तिवारी के मोबाइल पर दोपहर में एक बजे फोन आया. उन्होंने फोन उठाया तो दूसरी तरफ से आवाज आयी बाऊ जी प्रमाण करत हई, आशीर्वाद दा मंत्री बनत हई. ये सुनते ही ओमकार नाथ का घर खुशी से झूम उठा. ये फोन था यूपी में बनी भाजपा सरकार में मंत्रीपद पाने वाले शहर दक्षिणी के विधायक नीलकंठ तिवारी का. पहली बार विधायक बने नीलकंठ के पिता का कहना था कि बेटे की त्याग और तपस्या पर उन्हें जरूर भरोसा था कि वह एक न एक दिन इस मुकाम को जरूर हासिल कर लेगा. खुशी से झूम रहीं मां लाली देवी की आंखें बेटे की उपलब्धि पर खुशी से छलक उठीं. इतराते हुए बोलीं कि उसका मेहनत आज रंग लाया है. डॉ. नीलकंठ अपने पिता के सबसे बड़े संतान हैं. इनके अलावा नित्यानंद तिवारी, महावीर प्रसाद और संपूर्णानंद तिवारी भाई और जगदंबा तिवारी बहन हैं.

साथियों ने जतायी खुशी

डॉ. नीलकंठ तिवारी के मंत्री बनने पर अधिवक्ता साथियों में खुशी की लहर दौड़ गयी. अधिवक्ताओं का मानना है कि डॉ. नीलकंठ को मंत्री बनाये जाने से बनारस का विकास तो होना ही है साथ ही प्रदेश के अधिवक्ताओं के लिए टीन शेड मुक्त कचहरी, आवासीय कॉलोनी, पेंशन, मानदेय, बीमा समेत अन्य समस्याओं का त्वरित ढंग से निदान होगा. हर्ष जताने वालों में बनारस बार के अध्यक्ष अनिल पाण्डेय, महामंत्री आनंद मिश्र, सेंट्रल बार के अध्यक्ष अशोक सिंह प्रिन्स, महामंत्री ओमप्रकाश पाण्डेय, अनूप श्रीवास्तव, शशांक शेखर त्रिपाठी, नित्यानंद रॉय, आशुतोष शुक्ला आदि रहे.

Profile

-देवरिया के कटियारी कस्बे में ख्0 जुलाई क्97क् को डॉ. नीलकंठ तिवारी का जन्म हुआ, प्रारम्भिक शिक्षा वहीं हुई.

- पिता ओमकार नाथ तिवारी यूपी पुलिस में एसओ के पद पर तैनात थे.

- नीलकंठ ने क्वींस कॉलेज से हाईस्कूल, इंटरमीडिएट व स्नातक, लॉ की पढ़ाई हरिश्चंद्र पीजी कॉलेज में की.

-क्988 में छात्रसंघ महामंत्री के पद पर चयनित हुए, क्99ख् में अध्यक्ष पद पर उन्हें हार का सामना भी करना पड़ा

-क्99फ् में एबीवीपी से जुड़ गए, संघ के साथ भाजपा नेताओं से भी संबंध जुड़ते गए.

-क्99म् में विधि की शिक्षा लेने के बाद ख्00क् में वकालत शुरू की.

-वर्ष ख्0क्ब् में सेंट्रल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके हैं.