मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह अब बिजली कंपनी भी करा सकेंगे पोर्ट, सरकार बनाएगी कानून

By: Satyendra Singh | Publish Date: Mon 04-Dec-2017 04:09:22
A- A+
मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह अब बिजली कंपनी भी करा सकेंगे पोर्ट, सरकार बनाएगी कानून
बिजली कंपनियों की मनमानी और सप्लाई में अनिश्चितता से परेशान उपभोक्ताओं के लिए सरकार के नये नियम राहत दे सकते हैं। मौजूदा विद्युत अधिनियम में प्रस्तावित संशोधन को मंजूरी मिलने के बाद वे टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की तरह बिजली आपूर्ति कंपनी बदल सकेंगे। केंद्रीय ऊर्जा एवं नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा है कि ऊर्जा मंत्रालय आगामी बजट सत्र में विद्युत संशोधन विधेयक को पारित करवाने का प्रयास करेगा। इससे बिजली वितरण नेटवर्क और सप्लाई कारोबार अलग-अलग हो जाएगा।

लाइन और सप्‍लाई का कारोबार होगा अलग
ऊर्जा मंत्री आरके सिंह यहां एक इंटरव्यू में बताया कि हम विद्युत अधिनियम में कई बदलाव करने जा रहे हैं। इससे उपभोक्ता तक पहुंचने वाली बिजली की लाइन और सप्लाई का कारोबार अलग-अलग हो जाएगा। अगले एक हफ्ते में विधेयक का मसौदा उन्हें मिल जाएगा। हम इसे संसद के आगामी बजट सत्र में पारित करवाने का प्रयास करेंगे। बिजली नेटवर्क और सप्लाई कारोबार अलग होने से उपभोक्ता को अपने क्षेत्र में उपलब्ध कई कंपनियों के बीच में उसी तरह चुनने का अधिकार मिल जाएगा जिस तरह वे एमएनपी के तहत टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी का चयन करते हैं।

electricity portability, portable electricity supply, portable electricity source, power reform, electricity connection portability

कई कंपनियां करेंगी बिजली सप्‍लाई
सरकार की योजना का विवरण देते हुए ऊर्जा मंत्री ने कहा कि अधिनियम में संशोधन होने के बाद हम राज्यों के साथ परामर्श करके बिजली वितरण कंपनियों के
नेटवर्क और सप्लाई कारोबार को अलग करने की योजना तैयार करेंगे। इसके बाद सप्लाई के मामले में एकाधिकार खत्म हो जाएगा क्योंकि हर क्षेत्र में कई कंपनियों को बिजली सप्लाई करने का अधिकार होगा। अधिनियम के संशोधनों में नवीकरणीय बिजली जैसे सौर ऊर्जा व पवन ऊर्जा की खरीद के लिए भी सख्त प्रावधान किये जाएंगे। इसमें यह भी प्रावधान होगा कि टैरिफ पॉलिसी में क्रॉस सब्सिडी 20 फीसदी से कम रखी जाए। इससे किसी एक श्रेणी के उपभोक्ता को सस्ती बिजली देने के लिए दूसरी श्रेणी के उपभोक्ता पर 20 फीसदी से ज्यादा भार नहीं डाला जा सकेगा। इससे अधिकतम और न्यूनतम बिजली दर में 20 फीसदी से ज्यादा अंतर नहीं रहेगा।
electricity portability, portable electricity supply, portable electricity source, power reform, electricity connection portability

Mobile नंबर portability के बाद अब Savings bank a/c number portability

मुनासिब होंगी बिजली दरें
मंत्री के अनुसार इससे औद्योगिक बिजली दरें मुनासिब स्तर पर रहेंगी। इस समय दरें काफी ज्यादा होने से उनकी लागत काफी बढ़ जाती है। किसानों को बिजली इस्तेमाल में कुशलता सुधार के लिए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के जरिये सब्सिडी देने की व्यवस्था होगी। बिजली वितरण कंपनियों को मार्च 2019 तक उपभोक्ताओं को अबाध बिजली आपूर्ति देने की जिम्मेदारी होगी।
electricity portability, portable electricity supply, portable electricity source, power reform, electricity connection portability

Business News inextlive from Business News Desk