-साइंस किट घोटाला से जान बचाने के लिए कमेटी ने उठाया कदम

-विभागीय अधिकारियों से भी की कार्रवाई की मांग

<

-साइंस किट घोटाला से जान बचाने के लिए कमेटी ने उठाया कदम

-विभागीय अधिकारियों से भी की कार्रवाई की मांग

BAREILLYBAREILLY: साइंस किट घोटाला का मसला तूल पकड़ने पर बिथरीचैनपुर ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय की स्कूल मैनेजमेंट कमेटी ने बैंक को चेक क्लीयरेंस न करने के लिए लेटर लिखा है. वहीं, कमेटी ने अधिकारियों से प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है. सनद रहे कि साइंस किट में हुई धांधली के मामले को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने उजागर किया था, जिसके बाद बेसिक शिक्षा विभाग ने जांच कमेटी बनाकर जांच शुरू कराई थी.

79फ् स्कूल्स के लिए खरीदी गई किट

डिस्ट्रिक्ट के 79फ् जूनियर हाईस्कूल के स्टूडेंट्स के लिए शासन ने साइंस किट खरीदने के लिए बजट रिलीज किया था. आठ-आठ हजार रुपए का चेक स्कूल मैनेजमेंट कमेटी में आया. जिले के सभी बीईओ ने श्री इंटरप्राइजेज से कंठगांठ कर फरवरी में साइंस किट मंगवाकर सभी जूनियर हाईस्कूल में भेजवा दीं. जबकि चेक हेड टीचर से ले लिए. इसके बाद बीईओ ने चेक श्री इंटरप्राइजेज को दे दिया. ताकि वह भुगतान ले सके.

बैंक मैनेजर को िलखा लेटर

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने जब यह मामला उजागर किया तो बिथरीचैनपुर ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय की स्कूल मैनेजमेंट कमेटी ने बैंक ऑफ बड़ौदा की केसरपुर शाखा के मैनेजर को अप्लीकेशन लिखकर चेक क्लीयरेंस न करने को कहा है. हेड मास्टर अंगनलाल और कमेटी के अध्यक्ष इन्द्रपाल ने अकाउंट संख्या ख्09ब्0क्000क्ख्8क्7 के आठ हजार रुपए के चेक का भुगतान नहीं करने को लिखा है. साथ ही, विभागीय अधिकारियों से जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है.

घोटाले की जांच के लिए कमेटी बना दी है. जांच रिपोर्ट आने के बाद जो भी दोषी मिलेगा, उसके खिलाफ विभागीय एक्शन लिया जाएगा.

चंदना यादव, बीएसए