-रिम्स के पेडियाट्रिक सर्जरी में डॉक्टरों ने पेश की मिसाल

-चिल्ड्रेंस डे पर भर्ती बच्चों के साथ बांटी खुशियां

ranchi@inext.co.in

RANCHI (14 Nov): डॉक्टरों को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह के विचार आते हैं. कुछ लोग मानते हैं कि डॉक्टर केवल इलाज करता है तो कुछ का मानना है कि डॉक्टर और मरीज के बीच सेल्समैन व कस्टमर जैसा रिश्ता होता है. लेकिन, जब डॉक्टर इलाज करने के साथ ही मरीजों के साथ खुशियां बांटे, तो आप इसे क्या कहेंगे. जी हां, हम बात कर रहे हैं रिम्स के पेडियाट्रिक सर्जरी डिपार्टमेंट की, जहां डॉक्टरों ने चिल्ड्रेन डे पर न केवल बच्चों के साथ केक काटा. बल्कि वार्ड में एडमिट सभी बच्चों को गिफ्ट भी दिए. सबसे पहले पेडियाट्रिक सर्जरी के एचओडी डॉ. एच बिरुआ ने बच्चों के साथ केक काटा. उन्होंने कहा कि यह एक छोटा सा प्रयास है, ताकि बच्चों को कुछ नया एहसास हो. वहीं, डॉ. अजीत ने कहा कि हमलोगों ने मिलकर यह पहल की है. चूंकि बच्चे यहां इलाज कराने आए हैं. ऐसे में उन्हें भी खुशियां मनाने का पूरा हक है. मौके पर डॉ. विनीत, डॉ. नीलोफर, डॉ. प्रमोद, डॉ. विवेकानंद, डॉ. सोनू, डॉ. रवि, ड्रेसर मिथिलेश, नर्स के अलावा बच्चों के फैमिली मेंबर्स भी मौजूद थे.

........

बीमार बच्चों का इलाज तो यहां होता ही है, लेकिन बच्चों के साथ खुशियां मनाने की पहल बहुत अच्छी है. इससे डॉक्टरों के प्रति सम्मान और भी बढ़ जाता है. हमलोग तो बस यही मानते हैं कि डॉक्टर इलाज करते हैं, पर यहां तो डॉक्टरों का एक और अच्छा चेहरा नजर आया.

गुडि़या

हास्पिटल का नाम आते ही मन में ख्याल आता है कि डॉक्टर कैसा होगा. लेकिन रिम्स में आने के बाद तो ऐसा कुछ नहीं लगा. डॉक्टर इलाज अच्छे से करते हैं और आज तो केक और गिफ्ट भी बांटे गए है. हास्पिटल में ऐसा होगा, कभी सोचा भी नहीं था.

विरेंद्र सिंह

हास्पिटल में लोग इलाज कराने आते हैं, लेकिन यहां डॉक्टर ने बच्चों के साथ केक काटा तो बहुत अच्छा लगा. इसके अलावा बच्चों को गिफ्ट भी दिए गए है. हास्पिटल का माहौल भी बहुत अच्छा है.

लक्ष्मी देवी