फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी के इस्‍तेमाल में चीन बना वर्ल्‍ड नंबर वन

हाल ही में चाइना पुलिस के कुछ जवानों को यहां के एक रेलवे स्‍टेशन परह हाईटेक सनग्‍लासेस के साथ देखा गया। खास बात तो यह है अपने जवानों को दिए फेशियल रिकग्निशन टेक्नोलॉजी से लैस इन सनग्लासेस की मदद से चीन पुलिस ने 7 अपराधियों को धर दबोचा है। आपको बता दें कि चीन इस समय दुनिया में फेशियल रिकग्निशन टेक्नोलॉजी के मामले में नंबर एक पर पहुंच गया है। इसी कड़ी में चाइना सरकार ने Zhengzhou प्रॉविंस के सेंट्रल सिटी में एक व्यस्त रेलवे स्टेशन पर जब अपने जवानों को हाईटेक फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी वाले चश्मे से देकर भेजा, तो उसका नतीजा चौंकाने वाला था। इस टेक्नोलॉजी की मदद से जवानों ने भीड़ में से 7 अपराधियों को पहचान लिया और तुरंत ही पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी कर ली। इनमें से कुछ लोग हिट एंड रन से लेकर ह्यूमन ट्रैफिकिंग से जुड़े हुए आरोपी हैं। चाइना पूरे देश में ऐसे हाईटेक सनग्लासेस की मदद से पुलिस की क्षमता को कई गुना बढ़ाने में जुटा हुआ है। ताकि यहां-वहां घूम रहे हैं किसी भी अपराधी को आसानी से पहचान कर उसे सलाखों के पीछे पहुंचाया जा सके।

चाइनीज पुलिस ऑफिसर्स के ये सनग्लासेस सेकेंडों में पहचान लेते हैं हर अपराधी को,वैसे ये चश्में इंडियन पुलिस को कब मिलेंगे?

कैसे काम करते हैं ये सनग्लासेस

आपको बता दें कि ये स्‍मार्ट सनग्लासेस काफी हद तक Google ग्‍लास की तकनीक से मेल खाते हैं। इन सनग्लासेस में लगा है एक हाई डिफिनिशन कैमरा जो सामने वाले हर एक व्यक्ति को देखता और उसके चेहरे का स्कैन करता रहता है। इन कैमरों को वायरलेस चिप की मदद से चाइना पुलिस के सेंट्रल कंप्‍यूटर डेटाबेस से जोड़ा गया है। ताकि सनग्लासेस द्वारा देखे जा रहे किसी भी व्यक्ति का चेहरे का डेटाबेस से मिलान करके उसे सही सही पहचाना जा सके और उससे जुड़ी हर उपलब्‍ध जानकारी या उसके अपराधों के बारे में भी पूरी डिटेल मिल सके। अगर आप सोच रहे हैं कि ऐसा करने में इस सिस्टम को बहुत देर लगती होगी तो ऐसा नहीं है क्योंकि यह सिस्टम Realtime में लोगों के चेहरों को स्कैन करते करते पुलिस के डेटाबेस से उसका मिलान भी करता रहता है। यह हाईटेक और सुपरफास्‍ट सिस्‍टम किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या अपराधी को फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी द्वारा तुरंत पहचान कर उसकी गिरफ्तारी का पूरा प्रोग्राम फाइनल कर देता है।

सेल्फ ड्राइविंग कार भूल जाइए अब तो सेल्फ ड्राइविंग चप्पलें लेकर आ गई है ये कंपनी

चीन देश के कोने कोने में लगवा रहा है 57 करोड़ हाईटेक कैमरे

फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी और सीसीटीवी कैमरे की मदद से चाइना पुलिस दुनिया को पीछे छोड़ने को बेकरार है। चाइना पुलिस द्वारा अपने जवानों को दिए गए इन खास कैमरों से लैस सनग्लासेस की मदद से 7 अपराधियों के गिरफ्तारी के अलावा 26 ऐसे लोगों की पहचान की गई है। जो फर्जी ID का इस्तेमाल करते घूम रहे हैं। चाइना सिर्फ सनग्लासेस की मदद से ही अपराधियों तक पहुंचने में नहीं जुटी है, बल्कि चाइना ने अब तक देश में करीब 170 मिलियन सीसीटीवी कैमरे इंस्टॉल करवाएं हैं। कैमरों की इतनी संख्या सुनकर शायद आप कैलकुलेट कर रहे होंगे कि ये कितने कमरे हैं। वाकई चीन सरकार और पुलिस पूरे देश के कोने-कोने को एक क्लिक पर देखना चाहती है। यही नहीं अब देश के हर कोने को रिकॉर्ड करने के लिए चीन 400 मिलियन अतिरिक्त कैमरे अगले 3 सालों के भीतर पूरे देश में इंस्टॉल करने जा रहा है।

चाइनीज पुलिस ऑफिसर्स के ये सनग्लासेस सेकेंडों में पहचान लेते हैं हर अपराधी को,वैसे ये चश्में इंडियन पुलिस को कब मिलेंगे?


हवाई जहाज सफेद ही क्यों होते हैं? वजह हैं इतनी सारी, जो हमने भी नहीं सोची थीं

भारत में लगे नॉर्मल cctv कैमरों से बहुत हाईटेक हैं चाइना के ये सर्विलांस कैमरे

चीन की सड़कों और मार्केट में लगे हुए ये कैमरे भारत में लगे हुए नॉर्मल CCTV कैमरों जैसे नहीं है। उन सभी कैमरों में फेशियल रिकग्निशन टेक्नोलॉजी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम काम करता है, ताकि लोगों को पहचान तक सिस्‍टम खुद सही फैसला ले सके। अगर चाइना की पुलिस के बारे में इतनी तारीफ सुनकर आपको किसी हॉलीवुड फिल्म का सीन याद आ रहा है तो ऐसा नहीं है क्योंकि यह सच मे हो रहा है। चाइना पु‍लिस के इस हाईटेक अवतार के बारे में जानकर तमाम भारतीय शायद सोच में पड़ गए होंगे कि भारत में ऐसी हाईटेक टेक्नोलॉजी पुलिस को न जाने किस जन्‍म में मिल पाएगी।

अब इंडिया में बिन पानी होगी गेहूं की धुंआधार पैदावार! नई प्रजाति को मिली सरकार से हरी झंडी

International News inextlive from World News Desk