यूपी के शहर सबसे अधिक प्रदूषित

By: Inextlive | Publish Date: Tue 14-Nov-2017 07:01:08
A- A+
यूपी के शहर सबसे अधिक प्रदूषित

- सीवियर कैटेगरी में 10 में पांच यूपी के शहर

- लगातार खतरनाक स्थिति में बनी हुई है हवा

LUCKNOW :

देश में सबसे अधिक प्रदूषित शहर यूपी के ही हैं। सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार सोमवार को 10 सबसे प्रदूषित शहरों में पांच यूपी के ही हैं। जिनमें एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 से अधिक यानी सीवियर कैटेगरी में रहा। जिनमें से पांच शहर अकेले उत्तर प्रदेश के ही हैं। वहीं राजधानी लखनऊ में भी प्रदूषण की बेहद खराब स्थिति लगातार बनी हुई है.

पांच शहर बेहद प्रदूषित

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार सोमवार को देश के 10 शहरों में एयर क्वालिटी इंडेक्स सीवियर कैटेगरी में रहा। सभी में एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 से अधिक मापा गया। इनमें लखनऊ के अलावा कानपुर, मुरादाबाद, नोयडा, गाजियाबाद शहर हैं। जिसका मतलब है कि यह हवा हेल्थ के लिए अत्यंत खतरनाक है। सांस के रोगी जैसे अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, प्रेगनेंट महिलाएं, छोटे बच्चों, ओल्ड एज लोगों को अधिक खतरा है। इस प्रदूषित हवा में अधिक समय तक सांस लेने पर सांस, हार्ट की समस्याएं बढ़ सकती हैं और डिप्रेशन, स्ट्रेस, एंजाइटी की समस्या हो सकती है.

लखनऊ की हालत चिंताजनक

राजधानी लखनऊ में पिछले एक हफ्ते से हवा की स्थिति बेहद चिंताजनक बनी हुई है। केंद्रीय पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की ओर से दिए गए आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार को लखनऊ में एयर क्वालिटी इंडेक्स 426 रहा। जबकि नेशनल सामान्य स्तर 100 होना चाहिए। वहीं डब्ल्यूएचओ के अनुसार यह स्तर 50 से कम होना चाहिए,

न सफाई न छिड़काव, हर तरफ धूल ही धूल

एक्सप‌र्ट्स के अनुसार धूल भी इस प्रदूषण का बड़ा कारक है। विभिन्न कारणों से धूल उड़ने के बाद उसके कण हवा में ही रुक जाते हैं और यह स्मोग बनाते हैं। लखनऊ नगर निगम पहले सड़कों की मशीन से सफाई कराता था और प्रमुख मार्गो पर पानी भी छिड़कवाता था, लेकिन वर्तमान में न तो सफाई हो रही और न ही पानी का छिड़काव किया जा रहा है। जबकि दिल्ली में सड़कों की सफाई के साथ ही पानी भी छिड़का जा रहा है। ताकि पेड़ों और सड़कों पर जमी धूल बैठ जाए। लेकिन यहां पर न तो नगर निगम को पॉल्यूशन की चिंता है न ही लोगों को।

मरीज रहें सतर्क

केजीएमयू के पल्मोनरी मेडिसिन विभाग के डॉ। आरएएस कुशवाहा ने बताया कि बाहर प्रदूषण का स्तर काफी अधिक है। ऐसे में सांस के मरीजों को घर पर ही रहना चाहिए। मार्निग, इवनिंग वॉक को भी इग्नोर करें अन्यथा दिक्कत बढ़ सकती है। कोई दिक्कत होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

लखनऊ में एक्यूआई स्तर

13 नवंबर 426

12 नवंबर 374

11 नवंबर 424

10 नवंबर 462

09 नवंबर 468

08 नवंबर 430

07 नवंबर 365

देश के प्रदूषित शहर

1। गाजियाबाद 497

2। मुरादाबाद 479

3। भिवाड़ी 470

4। गुड़गांव 466

5। नोयडा 466

6। दिल्ली 460

7। रोहतक 454

8। लखनऊ 426

9। कानपुर 421

10। फरीदाबाद 422

गाजियाबाद सबसे अधिक प्रदूषित

यूपी का गाजियाबाद शहर पूरे देश में सोमवार को सबसे अधिक प्रदूषित रहा। यहां पर एक्यूआई लेवल 497 दर्ज किया गया। इसके बाद मुरादाबाद 479, भिवाड़ी 470, नोयडा 466 व गुड़गांव 466 एयर क्वालिटी इंडेक्स रहा।

inextlive from Lucknow News Desk