PATNA: सीएम नीतीश कुमार ने मंगलवार को मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष में आयोजित थानों एवं पुलिस भवनों के उद्घाटन समारोह में कहा कि विभाग में प्रशासनिक स्तर पर सुधार की जरूरत है. इस दौरान उन्होंने 214 करोड़ की लागत से 54 नवनिर्मित थानों और 174 पुलिस भवनों का उद्घाटन किया. इसी क्रम में उन्होंने 34.31 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले 23 पुलिस भवनों का शिलान्यास किया.

शराब से जुड़े मामलों के लिए नई तैनाती

शराबबंदी से जुड़े मामलों के अनुसंधान की मॉनिट¨रग के लिए सरकार पुलिस मुख्यालय में आइजी प्रॉहिबिशन का पद सृजित करने जा रही है. शराबबंदी से जुड़े किसी मामले से आइजी प्रॉहिबिशन असंतुष्ट होंगे तो वह फिर से उस केस का अनुसंधान करा सकेंगे. पुलिस यह विश्लेषण करे कि कौन से क्षेत्र में किस तरह के अपराध अधिक हो रहे हैं. यह तय करें कि उन अपराधों को लेकर उन्हें क्या करना है. मुख्यमंत्री ने पुलिस महकमे को आश्वस्त किया कि अगर और अधिक कर्मी तथा धन की जरूरत है तो सरकार उपलब्ध कराने को तैयार है. सुविधा दे रहें हैं तो हमें उपलब्धि चाहिए. जो उपलब्धि हासिल की है उसके साथ कोई समझौता नहीं. यह सभी जानते हैं कि अगर पुलिस वाले सख्त रहेंगे तो कोई भी शराब का धंधा नहीं करेगा. बिहार की पहचान कानून के राज से है, इसे कायम रखें.

पुलिस भवनों के रख-रखाव का प्लान

सीएम ने कहा कि जिन पुलिस भवनों का निर्माण बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम की देखरेख में हो रहा है उसे ख्007 के पहले बंद करने का निर्णय लिया गया था पर बाद में इस निर्णय को रद किया गया. ख्0क्म्-क्7 में निगम का टर्नओवर फ्म्ब्.भ्7 करोड़ रुपए हो गया है. अब यह निर्णय हो चुका है कि पुलिस भवन निर्माण निगम पुलिस से संबंधित सभी भवनों का रख रखाव भी करेगा.