खुशखबरी! आने वाली पीढ़ी नहीं पिएगी अल्कोहल, वैज्ञानिक ने खोजा नायाब तरीका

By: Chandra Mohan Mishra | Publish Date: Wed 20-Dec-2017 04:58:19   |  Modified Date: Wed 20-Dec-2017 05:30:34
A- A+
खुशखबरी! आने वाली पीढ़ी नहीं पिएगी अल्कोहल, वैज्ञानिक ने खोजा नायाब तरीका
पीने पिलाने का शौक रखने वाले लोगों को यह खबर नागवार गुजर सकती है लेकिन सच तो यह है कि ब्रिटेन के एक वैज्ञानिक ने दावा किया है कि आने वाले 10 से 20 सालों में दुनिया में लोग शराब पीना बंद कर देंगे। कहने का मतलब यह है कि आने वाली पीढ़ी शराब के बदले में पिएगी 'सिंथेटिक अल्कोहल' जिसका उनके शरीर पर कोई भी बुरा प्रभाव नहीं होगा। यानि कि Synthetic Alcohol पीकर वो पार्टी और फन भी कर सकेंगे और उनके लीवर पर भी कोई बैड इफेक्‍ट नहीं होगा।

शराब की जगह लेगा Alcosynth, जो होगा पूरी तरह सुरक्षित
पिछले कुछ सालों के दौरान पूरी दुनिया में शराब की लत एक बहुत बड़ी प्रॉब्लम के रूप में उभरकर सामने आई है। कई रिसर्च के मुताबिक दुनिया भर में हर साल मलेरिया, TB और डेंगू से ज्यादा लोगों की मौत अल्कोहल पीने के कारण होती है, लेकिन फिर भी शराब की बिक्री और पीने-पिलाने पर कोई असर नहीं पड़ता। किसी समस्या को पूरी तरह से निपटाने के इरादे से ब्रिटेन के एक प्रोफेसर डेविड नेट और उनकी टीम ने सिंथेटिक अल्कोहल बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। आपको बता दें कि प्रोफेसर डेविड नट, UK में ड्रग्‍स के मिसयूज पर बनी एडवायजरी कमेटी के चेयरमैन रहे हैं और आजकल उनकी टीम हैंगओवर से बचाने वाले सिंथेटिक एल्‍कोहल यानि Alcosynth को विकसित करने पर काम कर रही है।

 

अमेरिकी नौसेना को परेशान करने वाली उड़न तश्तरी का खुफिया वीडियो अब दिखा दुनिया को

 

Synthetic Alcohol, science news, Alcosynth, alcohol, drugs scientist, UK, liquor ban in India, liquor ban in world, liquor vs Synthetic Alcohol,Hangover free alcohol, liquor vs Alcosynth, liquor side effects, Hangover, UK news, research news

 

पढ़ाई करके जल्‍दी भूल जाते हैं तो वैज्ञानिकों की बताई यह एक्सपर्ट ट्रिक जरूर ट्राई कीजिए

वैज्ञानिक का दावा, लोग एल्‍कोहल ही नहीं सिगरेट भी छोड़ देंगे!

वैज्ञानिकों की इस टीम का मानना है कि पश्चिमी देशों में शराब पीना बहुत ज्‍यादा प्रचलित है, लेकिन आने वाले 10 से 20 सालों में इन देशों में भी शराब पीना लगभग बंद हो जाएगा क्योंकि शराब की जगह ले लेगी सिंथेटिक अल्कोहल जिसे Alcosynth के नाम से जाना जाएगा। यह एक ऐसा लिक्विड या पदार्थ होगा जो नशे के मामले में तो शराब से मिलता जुलता ही असर करेगा, लेकिन लोगों की बॉडी और उनके ऑर्गन को यह लिक्विड कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा। प्रोफेसर नट का मानना है कि नियर फ्यूचर में लोग तंबाकू से बनी सिगरेट की बजाय ई-सिगरेट पीना शुरु कर देंगे। ऐसे ही Alcosynth पीने के शौकीन लोगों के लिए एक वरदान होगा, क्‍योंकि यह उन्‍हें तमाम नुकसानों से बचाएगा। आपको बता दें कि प्रोफेसर नट की वेंचर कंपनी सिंथेटिक एल्कोहल बनाने के लिए 12 मिलियन डॉलर का निवेश कर रही है। उनका उद्देश्‍य है, ब्रिटेन के साथ ही अमेरिका और यूरोप में जल्द से जल्द हैंग ओवर फ्री एल्कोहल उपलब्ध कराना।

रात-दिन फोन में चिपके रहने वाले बच्चों से परेशान MOM ने चुन-चुन कर उनके फोन्‍स को मारी गोलियां!

International News inextlive from World News Desk

खबरें फटाफट