भीड़भाड़ वाले इलाकों में वन वे ट्रैफिक

By: Inextlive | Publish Date: Thu 12-Oct-2017 07:00:33
A- A+
भीड़भाड़ वाले इलाकों में वन वे ट्रैफिक

- ट्रैफिक व्यवस्था की समीक्षा के दौरान कमिश्नर ने दिए निर्देश

- बेतरतीब खड़ी गाडि़यों को हटाने के लिए गोलघर में क्रेन खड़ी करने के निर्देश

GORAKHPUR: शहर के भीड़भाड़ वाले इलाकों में वन वे ट्रैफिक सिस्टम लागू किया जाए। कैंट से बेतियाहाता रोड पर नगरनिगम अतिक्रमण हटाए और सड़कों को चौड़ा करें। कालेसर डिवाइडर ठीक हालत में नहीं है, इसकी पेंटिंग कराकर सूचना परक बोर्ड लगाया जाए। साथ रिक्शा व आटो रिक्शा की पार्किंग के लिए स्पॉट चिह्नित किए जाएं, ताकि जाम की कंडीशन न पैदा हो। यह निर्देश कमिश्नर अनिल कुमार ने दिए। वह नगर निगम क्षेत्र मे ट्रैफिक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि परिवहन निगम रेलवे बस स्टेशन पर अपनी बसों का संचालन ठीक करें ताकि वहां जाम की स्थिति पैदा न हो। उन्होंने आरएम रोडवेज और एसपी ट्रैफिक को व्यवस्था में सुधार के ि1नर्देश दिए.

गोलघर में खड़ी करें क्रेन

उन्होंने कहा कि गोलघर में हमेशा शाम को सड़क के किनारे चार पहिया वाहन खड़े कर देते हैं। एसपी ट्रैफिक सुनिश्चित करें कि सभी वाहन जीडीए के बेसमेंट में ही खड़े किए जाएं। वहीं जो लोग गोलघर में सड़कों पर गाडि़यों खड़ी कर चले जाते हैं, ऐसे लोगों के लिए एक क्रेन जरूर खड़ी की जाए, ताकि बेतरतीब खड़े वाहनों को वहां से हटाया जा सके। चौराहों पर सिग्नल लाइट का काम 3 माह बीतने के बाद भी पूरा न होने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर कराने के निर्देश दिए। वहीं नौ स्थानों में से महज तीन स्पॉट्स से विद्युत पोल हटाने पर भी उन्होंने नाराजगी व्यक्त की, अधीक्षण अभियंता विद्युत को प्रतिकूल देने की दी।

सौंदर्यीकरण पर जताई नारागजी

गोरखपुर नगर निगम क्षेत्र में ट्रैफिक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने चौराहों का सौंदर्यीकरण न कराए जाने पर भी उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। अपर आयुक्त नगरनिगम ने बताया कि कुल 11 में से 6 चौराहों पर सिग्नल लाइट लगाई गई है, शेष तीन दिन में पूरा कर दिया जाएगा। इसके अलावा छात्र संघ चौराहा, पादरी बाजार और देवरिया बाइपास चौराहा पर सिग्नल लाइट लगाने का निर्देश मंडलायुक्त ने दिया। उन्होंने नाराजगी व्यक्त किया कि 19 जुलाई की बैठक के बाद अभी तक यह कार्य पूरा नहीं किया गया। पिछली बैठक में 9 स्थानों पर बीच सड़क पर लगे पोल को हटाने के भी ि1नर्देश दिए.

पॉलीथिन की रोकथाम के लिए चलाएं अभियान

इसके लिए सम्पूर्ण धनराशि एक करोड़ 68 लाख विद्युत विभाग को उपलब्ध कराया था, तीन माह बीतने के बाद भी यह काम पूरा नहीं किया गया, जिस पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त किया। अधीक्षण अभियंता ने बताया कि कुल 46 किमी में से लगभग 20 किमी। अंडरग्राउंड केबल का काम पूरा हो गया है। पॉलीथिन पर रोक का काम अभियान के तौर पर संचालित किया जाए। जो बाजार या कॉम्पलेक्स, माल पॉलीथिन मुक्त हो जाते है, उनके संचालकों को सार्वजनिक तौर पर सम्मानित किया जाए। वर्तमान गोलघर पॉलीथिन मुक्त क्षेत्र घोषित है। उन्होंने निर्देश दिया है कि हर मंगलवार को नगर निगम क्षेत्र में स्थापित सभी मूर्तियों की सफाई जरूर कराई जाए। बैठक में डीआइजी एन चौधरी, डीएम राजीव रौतेला, एसपी ट्रैफिक आदित्य प्रकाश वर्मा, एडीएम सिटी रजनीश चन्द्र, नगरनिगम, गोरखपुर विकास प्राधिकरण, जीडीए, पीडब्लूडी, नेशनल हाईवे, परिवहन आदि विभागों के अधिकारी मौजूद रहे.

inextlive from Gorakhpur News Desk