- पहले पीजी कोर्सेज के लिए अलग से आयोजित होती थी काउंसिलिंग

- कोर्ट के फैसले के बाद राज्य में सिंगल काउंसिलिंग कराने का लिया निर्णय

- जल्द ही तय की जाएंगी संयुक्त काउंसिलिंग की तिथियां

DEHRADUN: प्रदेश के निजी व सरकारी मेडिकल,डेंटल कॉलेजों में एमडी-एमएस व एमडीएस के लिए दाखिले संयुक्त काउंसलिंग के माध्यम से किए जाएंगे. एचएनबी उत्तराखंड मेडिकल एजुकेशन यूनिवर्सिटी ने इसे लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं. यूनिवर्सिटी प्रशासन काउंसलिंग की तारीख कुछ ही वक्त में तय कर देगा.

देशभर के मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए अब एक एग्जाम यानि नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नीट)का आयोजन किया जाता है. यूजी व पीजी कोर्स में एडमिशन इसी के आधार पर होते हैं. इस व्यवस्था के पीछे कहीं न कहीं नेशनल लेवल पर एडमिशंस में एकरूपता लाने व प्राइवेट कॉलेजों की मनमानी पर रोक लगाना मकसद था. लेकिन ये व्यवस्था उस रूप में अमल में नहीं आ पा रही थी. एग्जाम बेशक एक हुआ, लेकिन निजी व प्राइवेट कॉलेज काउंसलिंग अलग-अलग करा रहे थे. उत्तराखंड में भी पिछले साल नीट की काउंसलिंग इसी तर्ज पर की गई. लेकिन अब जबकि पीजी में एडमिशन की तैयारी है, शासन ने संयुक्त काउंसलिंग का फैसला लिया है. सेक्रेटरी मेडिकल एजुकेशन डी सैंथिल पांडियन ने इसके आदेश कर दिए हैं. दिल्ली हाईकोर्ट के एक आदेश का हवाला देते कहा है कि शैक्षणिक सत्र ख्0क्7-क्8 में मेडिकल-डेंटल के पीजी कोर्सेज में एडमिशन के लिए नीट पीजी एग्जाम के रिजल्ट के आधार पर निजी, सरकारी कॉलेजों व डीम्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए सेंट्रलाइज काउंसलिंग आयोजित की जाएगी.

------------

नीट के तहत पीजी लेवल पर सेंट्रलाइज काउंसिलिंग को लेकर शासन से निर्देश प्राप्त हुए हैं. इसी क्रम में यूनिवर्सिटी स्तर पर कार्रवाई शुरू की जा चुकी है.

-- डॉ. आशुतोष सयाना, रजिस्ट्रार, एचएनबी उत्तराखंड मेडिकल एजुकेशन यूनिवर्सिटी.