सुशील को स्वर्ण पदक
सुशील ने दक्षिण अफ्रीका के जोहानस बोथा को हराकर गोल्ड हासिल किया है। वे सिर्फ 1 मिनट 20 सेकंड में ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फाइनल मुकाबला जीतने में कामयाब रहे। गोल्ड जीतने के बाद सुशील कुमार ने अपनी यह जीत हिमाचल प्रदेश के बस हादसे में मारे गए बच्चों को समर्पित की है। बता दें कि इस भयानक हादसे में 23 बच्चों की मौत हुई थी। सुशील ने अपने ट्वीट में लिखा है कि गौरांवित करने वाला पल है, यह स्वर्ण पदक उन बच्चों को समर्पित है, जिनकी हादसे में मौत हो गई।  

राहुल को भी गोल्ड
सुशिल के अलावा रेसलर राहुल अवारे ने भी 57 किग्रा फ्रीस्टाइल कैटेगरी में गोल्ड जीत लिया है। राहुल ने स्टीवन ताकाहाशी को 15-7 से हराकर गोल्ड हासिल किया है। राहुल का कॉमनवेल्थ गेम्स में यह पहला मेडल है। वहीं बता दें कि कॉमनवेल्थ गेम्स में सुशील का लगातार यह तीसरा मेडल है।

बबीता फोगाट को सिल्वर

अगर महिला की बात करें तो बबीता फोगाट ने 53 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में सिल्वर जीता है। इस कैटेगरी में एक और भारतीय रेसलर किरण ने कांस्य पदक हासिल किया है। रेसलिंग में कनाडा की डायना ने बबीता को 5-2 से हराकर गोल्ड जीता है। इसके अलावा बता दें कि बबीता का कॉमनवेल्थ गेम्स में यह तीसरा मेडल है। इस खेल में किरण ने कातोउसकिया को हराकर ब्रॉन्ज जीता है।

भारत के हाथ अब तक इतने मेडल
भारत इस कॉमनवेल्थ गेम्स में अब तक 29 मेडल हासिल कर चुका है, जिसमें 14 गोल्ड, 6 सिल्वर और 9 ब्रॉन्ज हैं। बता दें कि बबिता ने साल 2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान 56 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में गोल्ड पर कब्जा जमाया था। इसी तरह वह साल 2011 में मेलबर्न कॉमनवेल्थ गेम्स में भी 48 किग्रा फ्रीस्टाइल में गोल्ड मेडल जीती थीं। इसके अलावा सुशिल कुमार ने इससे पहले 2014 में 74 किग्रा वर्ग में गोल्ड हासिल किया था। इसक बाद 2010 में भी दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने 66 किग्रा फ्रीस्टाइल में स्वर्ण पदक जीता था।