तिलक समारोह में ठेकेदार की गोली मारकर की हत्या

By: Inextlive | Publish Date: Wed 14-Feb-2018 07:01:10
A- A+
तिलक समारोह में ठेकेदार की गोली मारकर की हत्या

- खाना परोसने की बात को लेकर लड़की पक्ष से आए बदमाशों ने मारी गोली

- हत्या के बाद ठेकेदार की रिवाल्वर भी लूटकर फरार हो गए बदमाश

GORAKHPUR: तिलक समारोह में खाना परोसने के विवाद में बदमाशों ने ठेकेदार की गोली मारकर हत्या कर दी। सोमवार देर रात बरगदवां स्थित जश्न मैरेज हाउस में हुई इस घटना से जश्न का माहौल मातम में बदल गया। हत्या कर बदमाशों ने उसकी लाइसेंसी रिवाल्वर भी लूट ली और असलहा लहराते हुए फरार हो गए। बताया जाता है कि बदमाश लड़की पक्ष से समारोह में आए थे और ठेकेदार लड़के पक्ष के मोहल्ले का था। ठेकेदार की आरोपियों के साथ पुरानी रंजिश की बात भी सामने आ रही है। इस मामले में पुलिस ने तीन नामजद व दो अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या व लूट कर केस दर्ज कर लिया है। घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। पुलिस अन्य तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी कर रही है.

हत्या कर लाश को पिटते रहे बदमाश

गोरखनाथ के रामनगर कॉलोनी निवासी लक्ष्मी नारायण सिंह के 40 वर्षीय पुत्र अरविन्द कुमार सिंह उर्फ मंटू सिंह मोहल्ले के अभिषेक सिंह के तिलक समारोह में शामिल होने आए थे। अभिषेक की शाहपुर इलाके के शिवपुर साहबाजगंज निवासी रविंद्रनाथ की बेटी अंजलि के साथ 18 फरवरी को शादी होनी है। सोमवार रात करीब 11.15 बजे तिलक के बाद खाने का कार्यक्रम चल रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, अरविंद कुमार सिंह का लड़की पक्ष की ओर से आए दीपक सिंह, आशुतोष भट्ट,, निक्की और दो अज्ञात लोगों से खाना परोसने को लेकर विवाद हो गया। इसके बाद दीपक सिंह ने अरविन्द की कनपटी पर तमंचे से गोली मार दी। इससे अरविंद की तत्काल मौत हो गई। इतना ही नहीं गोली मारने के बाद बदमाश ने अरविंद को लात- घूसों से भी मारते रहे। बाद में साथी के शोर मचाने पर असलहा लहराते हुए फरार हो गए। सूचना पाकर एसएसपी सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज, एसपी सिटी विजय कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। अरविंद के पिता की तहरीर पर पुलिस शाहपुर इलाके के असुरन के आशुतोष भट्ट, शिवपुर सहबाजगंज के दीपक ंिसह, निक्की सहित दो अन्य बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश कर रही है। अरविंद रेलवे में ठेका का काम कराते थे.

तीन बहनों के अकेला भाई थे अरविंद

परिवार के लोगों के मुताबिक, अरविंद तीन बहनों में इकलौते भाई थे। उनकी शादी हो चुकी है और उनका 5 साल का एक बेटा भी है। वह रेलवे में लंबे समय से ठेकेदारी का काम करते थे। बताया जा रहा है कि उनकी आरोपियों के साथ पुरानी रंजिश भी थी। आशंका है कि रेलवे के ठेके के विवाद में ही अरविंद की हत्या की गई है।

शातिर बदमाश है दीपक सिंह

पुलिस के मुताबिक, हत्या को अंजाम देने वाला बदमाश दीपक सिंह शातिर बदमाश है। वह इससे पहले भी तीन हत्याओं में वांक्षित चल रहा है। शहर के चर्चित बेलीपार एरिया के चेरिया के लाल बहादुर हत्याकांड से लेकर, 2010 में हुई सिंचाई विभाग के इंजीनियर एमके सिंह की हत्या में भी दीपक को आरोपी बनाया गया था। इसके अलावा दीपक के करीबी संजय दुबे की हत्या में भी वह आरोपी बनाए जाने के बाद जेल जा चुका था। बताया जा रहा है कि करीब एक साल पहले दीपक जेल से जमानत पर रिहा हुआ था।

वर्जन

पुलिस तीन नामजद व दो अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश कर रही है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी चल रही है। ताकि घटना का कारण स्पष्ट हो सके। सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जा रही है। जल्द बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज, एसएसपी

inextlive from Gorakhpur News Desk