13 मार्च का वो बुरा दिन, जब खेला गया सेमीफाइनल मैच
13 मार्च 1996 को खेला गया वर्ल्‍डकप का सेमीफाइनल कौन भूल सकता है। क्‍वॉटर फाइनल में चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्‍तान को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय टीम का सामना श्रीलंका से था। ऐसे में भारतीय प्रशंसको का उत्‍साह भी चरम पर था। कोलकाता का ईडन गार्डन पूरा भरा था। हर तरफ इंडिया-इंडिया का शोर था। खैर टॉस हुआ तत्‍कालीन भारतीय कप्‍तान मो. अजहरुद्दीन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। श्रीलंका की तरफ से ओपनिंग करने आए सनथ जयसूर्या और कलुविथराना, मगर उस वक्‍त तेज भारतीय गेंदबाज जवागल श्रीनाथ ने दोनों को सस्‍ते में चलता किया। इसके बाद गुरुसिन्‍हा के रूप में तीसरा विकेट भी श्रीनाथ के खाते में गया। श्रीलंका टीम की आधी कमर टूट चुकी थी। सभी को लगा कि अब श्रीलंकन टीम ज्‍यादा स्‍कोर नहीं कर पाएगी। मगर बाद में अरविंद डी सिल्‍वा (66) और महानमा (58) ने बड़ी और उपयोगी साझेदारी कर श्रीलंका का स्‍कोर 251 तक पहुंचा दिया। अब भारत को जीत के लिए 252 रन चाहिए थे।
13 मार्च को खेला गया था भारत-श्रीलंका का वो मैच,जो आज तक पूरा नहीं हो सका

इन 5 इंडियन क्रिकेटर्स के सामने मुश्फिकुर रहीम का 'नागिन डांस' कुछ भी नहीं

यह मैच कभी पूरा नहीं हो सका
वर्ल्‍डकप फाइनल में पहुंचने के लिए भारत को यह मैच जीतना जरूरी था। सचिन तेंदुलकर और नवजोत सिंह सिद्धू भारत की तरफ से ओपनिंग करने आए। सिद्धू तो 3 रन पर चलते बने, मगर सचिन एक छोर पर टिके रहे। इसके बाद बैटिंग करने आए संजय मांजरेकर, वो भी 25 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। अब भारत को जीत दिलाने की जिम्‍मेदारी 5वें नंबर पर बैटिंग करने आए अजहर और सचिन पर थी। मगर उस दिन किस्‍मत भारत के साथ नहीं थी। कलाईयों का जादूगर अजहर जीरो पर आउट हो गया। इसके बाद मानों विकेटों की झड़ी लग गई। सचिन भी 65 रन पर आउट हो गए। भारत की पारी के अभी 34 ओवर ही पूरे हुए थे और 2 विकेट बाकी थे, मगर मैच बीच में रोक दिया गया। वजह थी भारतीय दर्शक।
13 मार्च को खेला गया था भारत-श्रीलंका का वो मैच,जो आज तक पूरा नहीं हो सका

पत्‍नी अनुष्‍का के साथ किराए के फ्लैट में रह रहे विराट कोहली, 15 लाख रुपये प्रति महीना देते है रेंट

स्‍टेडियम में लगा दी गई थी आग

दर्शकों को लगा कि अब भारत का यह मैच जीत पाना मुश्‍किल है। फैंस ने स्‍टेडियम में बवाल करना शुरु कर दिया। मैदान में बोतलें फेंकी गईं। हद तो तब हो गई, जब सीटों पर आग लगा दी गई। मैच को तुरंत ही रोक दिया गया और मैच रेफरी ने श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk