GORAKHPUR:  खुद से सात माह छोटे भाई की हत्या उसने पुस्तैनी जमीन के लालच में कर दी. सिकरीगंज पुलिस ने हत्यारोपी को शुक्रवार दोपहर उसके घर से गिरफ्तार कर लिया. घटना का खुलासा करते हुए एसपी साउथ ज्ञान प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि विनय सिंह (18) पुत्र रामप्रताप की हत्या उसके चचेरे भाई विवेक सिंह ने हसिया से वार करके की है. बताया कि हत्यारोपी विवेक की दादी ने अपने नाम की साढ़े चार बीघा जमीन को उन्होंने सिर्फ अपने दो बेटों कृष्णपाल और रामप्रताप के पुत्रों के नाम कर दिया था.

हसिया से मारकर की थी हत्या

पिता उदयभान व खुद को जमीन न मिलने से विवेक अपने चचेरे भाईयों से रंजिश रखने लगा. एसपी साउथ ने बताया कि विवेक ने तीन अप्रैल की रात करीब नौ बजे अपने से सात माह छोटे चचेरे भाई विनय को शौच के बहाने घर के पीछे गेहूं के खेत में 300 मीटर दूर ले गया और हसिया से गर्दन पर वार कर हत्या कर दी. हत्या के बाद उसने लाश को वहीं खेत में छोड़ घर चला आया. पुलिस ने शुक्रवार को हत्यारोपी विवेक को उसके घर से गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त हसिया और खून से सना लोवर बरामद कर लिया.

कराउंगा विवेक की बहन की शादी

पुलिस कार्यालय में आए विनय के बड़े भाई सच्चिदानंद ने कहा कि अब भी विवेक की बहन की शादी कराउंगा क्योंकि वह मेरी ही बहन है. सच्चिदानंद बीएसएफ में सिपाही है और न्यू जलपाईगुड़ी में तैनात है. उसका कहना है कि विवेक के एक भाई की पहले ही मौत हो चुकी है और अब यह जेल में चला गया. ऐसे में अब उसकी बहन की शादी मैं कराउंगा.

Crime News inextlive from Crime News Desk