तमिलनाडू के शातिर टप्पेबाज पकड़े गए

By: Inextlive | Publish Date: Wed 13-Sep-2017 07:40:54
A- A+
तमिलनाडू के शातिर टप्पेबाज पकड़े गए

- शहर में घूमकर कई वारदात को अंजाम दे चुके हैं शातिर

- त्रिचि गैंग के सदस्य हैं दोनों पकड़े गए शातिर टप्पेबाज

LUCKNOW :

शहर में घूमकर टप्पेबाजी की वारदात करने वाले तमिलनाडु के त्रिचरापल्ली गैंग के दो बदमाशों को कृष्णानगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के पास से 47 हजार रुपये बरामद हुए हैं। पुलिस का दावा है कि बदमाशों के पकड़े जाने से टप्पेबाजी की आठ घटनाओं का खुलासा हुआ है। गैंग के अन्य साथी फरार हैं।

बाकी की तलाश जारी

पुलिस उनकी तलाश में जुटी है। एएसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि सोमवार रात 10.30 बजे कृष्णानगर पुलिस ने चेकिंग के दौरान डाला स्टैंड के पास दो संदिग्धों को घूमते पकड़ा। तलाशी के दौरान आरोपियों के पास से एक पिट्टू बैग और 47 हजार रुपये मिले। पूछताछ में बदमाशों ने अपना नाम अमर और रोहित बताया।

तमिलनाडु के रहने वाले

इंस्पेक्टर अंजनि पांडेय ने बताया कि दोनों आरोपी मूल रूप से तमिलनाडु के त्रिचरापल्ली इलाके के रहने वाले हैं। रुपयों के बारे में पूछताछ करने पर उन लोगों ने बताया कि रुपये टप्पेबाजी कर हासिल किए गए हैं.

त्रिचि गैंग के सदस्य

पुलिस के अनुसार पकड़े गए शातिर त्रिचि गैंग के सदस्य हैं। उनके गैंग में पुरुषों के अलावा महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। यह लोग महानगरों में घूम घूम कर गाडि़यों के शीशे तोड़कर कीमती सामान उड़ा लेते हैं। अगर गाड़ी में ड्राइवर मौजूद होता है तो ये गाड़ी पंचर करके या मोबिल ऑयल टपकने का झांसा देकर टप्पेबाजी करते हैं.

आठ घटनाओं का खुलासा

इंस्पेक्टर अजनि कुमार पांडेय ने बताया कि बदमाशों ने कृष्णानगर में तीन, मडि़यांव में एक अमीनाबाद में दो और मानकनगर इलाके में टप्पेबाजी की दो वारदात को अंजाम देने की बात कबूली है। पुलिस अब इस गैंग के अन्य सदस्यों के बारे में पता लगा रही है।

सस्ते बेचते चोरी का सामान

अमर और रोहित ने बताया कि उन्होंने कई गाडि़यों से लैपटॉप, कैमरा, मोबाइल व अन्य सामान गायब किया है। वारदात करने के बाद वह लोग भीड़ भरे बाजार में जाकर बेहद सस्ते दाम में चोरी का सामान बेच देते हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपियों के पास से बरामद रुपये टप्पेबाजी का सामान बेचकर अर्जित किए गए हैं.

inextlive from Lucknow News Desk