-आपराधिक गिरोह से जुड़े मनबढ़ों पर होगी कार्रवाई

-संतोष साहनी मर्डर की जांच में कई युवकों की पहचान

GORAKHPUR:

शहर के अंदर आपराधिक गैंग की सक्रियता ने फिर से पुलिस के सामने चुनौती खड़ी कर दी है. शाहपुर एरिया के जंगल तुलसीराम बिछिया, आजाद नगर मोहल्ले में प्रापर्टी कारोबारी संतोष की हत्या की जांच में पुलिस को कई जानकारी मिली. शहर के माफिया, गैंगेस्टर से जुड़े युवकों का गुट इलाके में खूब एक्टिव है. गैंगेस्टर्स का नाम लेकर युवकों का गुट एक दूसरे पर धौंस जमाता रहता है. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आपराधिक तत्वों से जुड़े लोगों पर शिकंजा कसा जाएगा. प्रापर्टी डीलर की हत्या में शामिल बदमाशों की तलाश चल रही है.

संतोष मर्डर में सामने आया सच, चल रही टशन

मोहद्दीपुर मोहल्ला निवासी संतोष निषाद प्रापर्टी का कारोबार करता था. आठ अप्रैल शाम सात बजे वह बाइक से जंगल तुलसीराम बिछिया स्थित अपने परिचित प्रापर्टी डीलर के आफिस पर गया. रात में 10 बजे किसी का फोन आने पर उसकी मोबाइल पर हाट टाक हुई. साढ़े 11 बजे संतोष की डेडबॉडी चार फाटक ओवरब्रिज के पास मिली. हत्या के आरोप में राजीव ऋषि तिवारी, मानवेंद्र सिंह, टिंकू पासवान, संजय निषाद और अजीत तिवारी का नाम प्रकाश में आया. मुख्य आरोपी राजीव ऋषि तिवारी के घर में हत्या किए जाने के सबूत मिलने पर पुलिस ने सभी के खिलाफ इनाम भी घोषित कर दिया. अभियुक्तों की तलाश में लगी पुलिस ने कई युवकों को ट्रेस किया. इस दौरान सामने आया कि शहर के कुख्यात बदमाशों ने इस इलाके में गहरी पैठ बना ली है. उनसे जुड़े हुए युवकों का अलग-अलग गुट एक्टिव हो गया है. अंडरव‌र्ल्ड की तरह उनके बीच छोटी-छोटी बातों को टशन चल रही है.

दबदबा कायम करने के लिए बनाया गुट

पुलिस से जुड़े लोगों का कहना है कि माफिया सुधीर सिंह, जेल में बंद विनोद उपाध्याय, चंदन सिंह, बिसई सिंह, हिस्ट्रीशीटर सूरज, पवन सिंह, पंकज सहित कई बदमाशों का शाहपुर इलाके में दबदबा है. जंगल तुलसीराम बिछिया में प्रापर्टी कारोबारियों की तादाद तेजी से बढ़ी है. विवादित भूमि की सौदेबाजी के बाद उस पर कब्जा दिलाने के लिए मनबढ़ युवकों की जरूरत पड़ती है. इसलिए लग्जरी गाड़ी में घूमने, असलहे रखने, महंगे कपड़े और जूते खरीदने का शौक पालने वाले 15 से 35 साल के युवकों को खूब तरजीह दी जा रही है. पुलिस की जांच में सामने आया है कि इनमें कुछ ऐसे भी जिनका इस्तेमाल आपराधिक कामों के लिए खूब किया जा रहा है. मारपीट और बवाल तो उनके लिए आम बात है. इसलिए मोहल्ले के लोग भी युवकों का कोई विरोध नहीं करते. एक विधायक के करीबी मनबढ़ युवक भी कई बार बवाल काट चुके हैं.

मिठाई की दुकान पर उठते-बैठते बदमाश

जांच में यह भी सामने आया कि एक मिठाई की दुकान पर बदमाशों का ज्यादा उठना-बैठना है. दुकान पर जुटने वाले मनबढ़ों को मोहद्दीपुर पुलिस चौकी पर तैनात दरोगा ने खदेड़ा था. कौआबाग पुलिस चौकी भी कई बार मनबढ़ युवकों को खदेड़ चुकी है. बताया जाता है गैंगेस्टर से जुड़े मनबढ़ युवक आए दिन मोहल्ले में मारपीट करते हैं. दबदबा कायम करने के लिए मनबढ़ युवक अक्सर फायरिंग करते रहते हैं. एक माह के भीतर इस इलाके में फायरिंग की आधा दर्जन घटनाएं हो चुकी हैं. जबकि पीएसी के पास दो गुटों में मारपीट और प्रापर्टी कब्जा करने के लिए अपहरण का मामला पहले भी सामने आया था.

इस इलाके में कुछ अपराधियों की गहरी पैठ है. उनके बारे में जानकारी मिली है. अपराधियों से जुड़े युवकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी. उनके खिलाफ ठोस सबूत जुटाए जा रहे है. नई उम्र के लड़कों को लालच देकर शातिर बदमाश उनका इस्तेमाल कर रहे हैं.

विनय कुमार सिंह, एसपी सिटी