दोनों खिलाडिय़ों का महत्वपूर्ण योगदान
आईपीएल ऑक्शन में में महज 30 लाख की रकम पाने वाले बॉलर जयदेव उनादकट ने 2017 सीजन में जो प्रदर्शन किया वह काबिल-ए-तारीफ है। इस सीजन में राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की ओर से लीडिंग विकेट टेकर की भूमिका निभाते हुए जयदेव ने 11मैचों में 22 विकेट चटका कर टूर्नामेंट में अब तक जीत में अहम भूमिका निभाई। शायद यही कारण है कि पुणे सुपरजायंट्स आईपीएल 2017 में पहुंचने वाली पहली फाइनलिस्ट टीम बनी है।मगर वे अपनी इस सफलता का सारा क्रेडिट टीम के उन दो आधार स्तंभों को देते हैं। उनादकट के मुताबिक पुणे के अब तक के अच्छे सफर का मुख्य क्रेडिट पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और मौजूदा कप्तान स्टीवन स्मिथ को दिया है।

पुणे की राइजिंग में धोनी-स्मिथ सुपरजायंट्
तारीफ के हकदार
उनादकट ने कहा कि मुझे महेंद्र सिंह धोनी और स्टीवन स्मिथ से काफी कुछ सीछने को मिला। गौरतलब है कि धोनी के प्रयासों के वजह से टीम को बुधवार को खेले गए पहले क्वालीफायर में जीत मिली थी। इतना ही नहीं, ग्र्रुप स्टेज में जब टीम का प्रदर्शन लडख़ड़ा रहा था उस वक्त स्टीवन स्मिथ ने लगातार बल्ले से कप्तानी पारियां खेतने हुए टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। यही कारण है कि धोनी और स्मिथ ही हर ओर प्रशंसा हो रही है और उनादकट भी इन दोनों की प्रशंसा करने में किसी से पीछे नहीं हैं।

और क्या कहा?
उनादकट ने आगे कहा कि हैदराबाद के खिलाफ उनका हैटट्रिक लेना किसी सपने के सच होने जैसा है। इसे सफल बनाने में धोनी और स्मिथ की टिप्स काफी काम आई। उन्होंने कहा कि मैं अपनी गेंदबाजी पर काम कर रहा हूं और लगातार इसे सुधारने का प्रयास कर रहा हूं। मुझे जो भी टिप्स मिलते हैं मैं उन पर काम करता हूं और इसी कारण से मेरी गेंदबाजी में निखार आया। इस पच्चीस वर्षीय फास्ट बॉलर ने माना कि धोनी और स्मित का सानिध्य किसी आशीर्वाद से कम नहीं है। इस बीच टूर्नामेंट में सबसे महंगे बिके बल्लेबाज बेन स्टोक्स अब चैंपियंस ट्रॉफी में हिस्सा लेने के लिए इंग्लैंड लोट गए हैं जिससे निश्चित तौर पर टीम को इनकी कमी खलेगी। उनादकट ने कहा कि कि वो एक मैच विनर खिलाड़ी हैं और निश्चित तौर पर हमें उनकी कमी खलेगी। मगर टीम में अच्छे प्लेयर्स की भरमार है जो अच्छा प्रदर्शन करने के लिए आश्वस्त हैं।

पुणे की राइजिंग में धोनी-स्मिथ सुपरजायंट्
धोनी के नाम अनोखा रिकॉर्ड
आईपीएल 2017 के पहले क्वालीफायर मैच में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के धमाके से पुणे ने मुंबई को हरा फाइनल में जगह बनाई। इसके साथ ही धोनी ने एक अनोखा रिकार्ड भी बना डाला। धोनी ऐसे पहले खिलाड़ी बन गए हैं जो आईपीएल का सातवां फाइनल खेंलेगे। फिलहाल आईपीएल का 10वां सीजन चल रहा है। 10 सीजन में 7 का फाइनल खेलना शायद कैप्टन कूल के परफेक्शन का ही नतीजा है। इसमें एक बात और गौर करने लायक है कि 6 बार से धोनी बतौर कप्तान अपनी टीम को लेकर फाइनल में पहुंचे हैं। इस बार धोनी के पास भले ही कप्तानी नहीं हो, लेकिन वह जिस टीम में रहे उसी को सबसे पहले फाइनल में पहुंचने का मौका मिला है। आईपीएल का पहला सीजन 2008 में हुआ था। 2010 व 2011 में टीम ने खिताब जीता और 2012, 2013 व 2015 के फाइनल में पहुंची।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

Cricket News inextlive from Cricket News Desk