- ईव्ज चौराहे पर युवक की सड़क हादसे में मौत

- नाराज लोगों ने सड़क पर मचाया जमकर उत्पात

- पुलिस के डंडे छीन मीडियाकर्मियों पर किया हमला

मेरठ. सड़क हादसे में एक युवक की मौत से गुस्साए एक विशेष संप्रदाय के 200 से ज्यादा लोगों ने ईव्ज चौराहे पर जमकर उत्पात मचाया. यात्रियों से भरी रोडवेज सिटी बस को पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया. गुस्साए लोगों ने दरोगा की जमकर पिटाई कर उसकी वर्दी फाड़ दी. वहीं, पुलिस जीप में आग लगाने का प्रयास किया. आसपास की दुकानों में लूटपाट करते हुए वाहनों पर पथराव किया. लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ईव्ज चौराहे पर जाम लगा दिया. मौके पर पहुंची कई थानों की फोर्स ने भीड़ पर लाठी चार्ज किया. पुलिस ने युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. इस दौरान हंगामा करने वाले आठ लोगों को हिरासत में लिया.

सिटी बस ने कुचला

शुक्रवार दोपहर तीन बजे करीब गुदड़ी बाजार निवासी ओसामा पुत्र अपने रिश्तेदार आबिद के साथ एक्टिवा से हापुड़ अड्डे से अपने घर जा रहा था. वहीं, ईव्ज चौपले के पास खड़ी इनोवा कार सवार युवक ने दरवाजा खोला तो पीछे से आ रहा ओसामा की एक्टिवा की टक्कर कार से हो गई. इससे ओसामा एक्टिवा समेत सड़क के बीचोंबीच गिर पड़ा. इसके बाद पीछे से आ रही रोडवेज सिटी बस ने उसे कुचल दिया. जिसके चलते उसकी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक्टिवा में सवार युवक आबिद गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे नर्सिग होम में भर्ती कराया गया.

--------

अराजकता पर बेबस दिखी पुलिस

ओसामा की मौत की सूचना पर विशेष संप्रदाय के लोगों ने जमकर उत्पात मचाया. लाठी डंडे लेकर पहुंचे लोगों ने इनोवा कार में तोड़फोड़ के अलावा रोडवेज बस को पेट्रोल डालकर फूंक दिया. इसके बाद कोतवाली थाने के दरोगा की जमकर पिटाई कर वर्दी तक फाड़ दी. इसके साथ पुलिस की जीप में तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने का प्रयास किया. हंगामा होते ही आसपास का बाजार बंद हो गया. मौके पर पहुंची कई थानों की फोर्स ने भीड़ को लाठी फटकार खदेड़ा.

सीओ ने भागकर बचाई जान-

भीड़ को खदेड़ने के लिए सीओ अकेले ही भीड़ में पहुंच गए. भीड़ ने सीओ को अकेला देखकर उन्हें घेरने का प्रयास किया. इसके बाद उन्होंने वहां से भागकर अपनी जान बचाई. ईव्ज चौराहे पर बवाल होते ही ट्रैफिक पुलिस ने रूट डायवर्जन कर दिया. जिसके चलते बच्चा पार्क पर भी ट्रैफिक को रोक दिया गया.

जांच के आदेश दिए

एडीएम सिटी मुकेश चंद ने घटना की जांच के आदेश दिए है. उन्होंने कहा कि मीडिया कर्मी व वाहनों में आगजनी लगाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा.

दुकानों के शटर गिरे

वाहनों में आगजनी होते ही दो मिनट के अंदर दुकानदारों ने शटर गिरा दिए. ईव्ज चौपले पर काफी संख्या में पुलिस बल रहता है. घटना के बाद दो सौ लोगों की भीड़ के सामने एक दरोगा व चार सिपाही अकेले ही मौके पर पहुंचे. भीड़ ने दरोगा की सड़क पर घेर कर पिटाई कर डाली. दरोगा ने भागकर अपनी जान बचाई दरोगा की पिटाई होते ही वायरलेस पर सूचना पर दी गई. इसके बाद काफी संख्या में पुलिस अधिकारी व पीएसी मौके पर पहुंची.

---------

गंभीरता नहीं भांप सके दरोगा

ईव्ज चौराहे एक्सीडेंट होते ही वहां पर काफी संख्या में भीड़ जुटने लगी थी. वहां पर मौजूद चार सिपाही व एक दरोगा ने घटना की खबर किसी भी पुलिस के उच्च अधिकारियों को नहीं दी. वे भीड़ से स्वयं ही उलझते रहे. जिससे भीड़ ने उनके दौड़ा लिया. बवालियों ने पुलिस के सामने ही लोगों पर पथराव किया. बवालियों के साथ महिलाओं ने भी जमकर उत्पात मचाया. वहीं, कोतवाली थाने में लोगों ने गिरफ्तार लोगों को छुड़ाने की मांग की. उधर मामले की गंभीरता को भांप कर इनोवा कार मालिक मौके से फरार हो गया.

-----------------

वर्जन

बसों में आगजनी करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. बवालियों की वीडियो रिकार्डिग से पहचान कराई जा रही है. कोतवाली थाने में डेढ़ सौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया.

जे. रविंद्र गौड़ एसएसपी मेरठ