1- फुटबॉल के इतिहास में सबसे बड़े प्‍लेयर के रूप में डिएगो माराडोना का नाम लिया जाता है। माराडोना का जन्म लानुस में एक गरीब परिवार में 30 अक्‍टूबर 1960 को हुआ था।
फुटबॉल का जादूगर और उसके हैंड ऑफ गॉड वाले गोल की कहानी

2- डिएगो माराडोना ने अपने 21 सालों के कर‍ियर में 680 मैच खेले। इन मैचों में उन्‍होंने 345 गोल किए। 1990 के वर्ल्‍डकप में उन्‍हें 50 बार फाउल दिया गया। यह एक सिंगल टूर्नॉमेंट वर्ल्‍ड रिकॉर्ड है।
फुटबॉल का जादूगर और उसके हैंड ऑफ गॉड वाले गोल की कहानी

3- उन्‍होंने चार बार फीफा वर्ल्‍ड कप खेला। जिसमें उन्‍होंने आठ गोल किए। फीफा प्लेयर ऑफ दी सेंचुरी पुरस्कार के लिए उन्हें इंटरनेट मतदान में सर्वप्रथम स्थान मिला था। उन्होंने महान फुटबॉलर पेले के साथ पुरस्कार में साझेदारी की।
फुटबॉल का जादूगर और उसके हैंड ऑफ गॉड वाले गोल की कहानी

4- 1986 वर्ल्‍ड कप के दौरान उन्‍होंने इतिहास रच दिया। उन्‍होंने 2-1 के अंतर से इंग्‍लैंड पर जीत पाई।  उन्‍होंने अपनी टीम की ओर से दो गोल दागे थे जो फुटबॉल के इतिहास में दर्ज हो गए। पहला गोल एक दंड मुक्त हैंडबॉल था जिसे हैंड ऑफ गॉड के नाम से जाना जाता है। दूसरा गोल एक शानदार 6 मीटर की दूरी से और छह इंग्लैंड के खिलाड़ियों के बीच से निकाला गया गोल था जो आम तौर पर दी गोल ऑफ दी सेंचुरी के नाम से जाना जाता है।
फुटबॉल का जादूगर और उसके हैंड ऑफ गॉड वाले गोल की कहानी

5- पहली हैंडबॉल को हैंड ऑफ गॉड के नाम से जाना जाता है। माराडोना ने अर्जेंटिनोस जूनियर, बोका जूनियर्स, बार्सिलोना, सेविला, नेवेल्स ओल्ड बॉय और नापोली के लिए खेलते हुए अनुबंध शुल्क लेने में विश्व रिकोर्ड कायम किया।
फुटबॉल का जादूगर और उसके हैंड ऑफ गॉड वाले गोल की कहानी

Sports News inextlive from Sports News Desk

inextlive from News Desk