- पति के साथ मॉर्निग वॉक पर निकलीं थीं नंदिनी

- बीआरडी के पूर्व एचओडी डॉ. आशीष घोष की थीं पत्नी

GORAKHPUR: मॉर्निग वॉक पर निकलीं बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर नंदिनी घोष की रविवार सुबह मेडिकल कॉलेज रोड पर आरोग्य मंदिर के पास सड़क दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई. वह अपने पति डॉ. आशीष घोष के साथ सड़क पार कर रहीं थीं. उसी दौरान पहले कार फिर एंबुलेंस ने रौंद दिया. एंबुलेंस में फंस कर 20 मीटर तक वे घसिटती भी रहीं. सुबह टहलने निकले अन्य लोग उन्हें निजी अस्पताल ले गए. हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने मेडिकल क ॉलेज रेफर कर दिया. जहां कुछ देर बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. डॉ. नंिदनी की मौत की खबर सुनते ही शहर के डॉक्टरों में शोक की लहर दौड़ गई. उनके घर पर लोगों की भीड़ लगी रही.

डेली जाती थीं आरोग्य मंदिर

मेडिकल कॉलेज रोड पर आरोग्य मंदिर के सामने डॉ. आशीष घोष और डॉ. नंदिनी घोष का मकान है. डॉक्टर दंपति रोज सुबह आरोग्य मंदिर के पार्क में टहलने जाते थे. रविवार सुबह 6.30 बजे भी वे आरोग्य मंदिर जाने के लिए सड़क पार कर रहे थे. इसी दौरान मेडिकल कॉलेज की तरफ तेज रफ्तार से जा रही कार ने डॉ. नंदिनी को ठोकर मार दी. वह सड़क के बीचोंबीच गिर पड़ीं. इस बीच मेडिकल कॉलेज की तरफ से आ रही एंबुलेंस ने उन्हें रौंद दिया. एंबुलेंस में फंस कर 20 मीटर तक डॉ. नंदिनी सड़क पर घसिटती रहीं. दोनों वाहन चालक मौके से फरार हो गए. दुर्घटना के बाद जुटे आरोग्य मंदिर पार्क में टहलने वाले अन्य लोगों ने आनन-फानन में उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया. हालत नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया. जहौं डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

मशहूर डॉक्टर्स में थी गिनती

डॉक्टर दंपति की शहर के मशहूर डॉक्टर्स में गिनती होती है. 55 वर्षीय डॉ. नंदिनी घोष बालरोग विशेषज्ञ थीं. गोरखनाथ ओवरब्रिज के पास क्लीनिक चलाती थीं. पति डॉ. आशीष घोष मेडिकल कॉलेज के नेत्र विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष रह चुके हैं. वर्तमान में आवास पर ही मरीजों को देखते हैं. उनके दो बेटे हैं. बड़ा बेटा अमेरिका तथा छोटा बंगलुरु में नौकरी करता है.