कठघरे  में ट्रंप
अमेरिका सुरक्षा की नेशनल सिक्यूरिटी एजेंसी NSA के विशेषज्ञ और पूर्व काउंटर इंटेलीजेंस अधिकारी जॉन शिंडलर की माने तो, अगर राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की टीम और उसके चलते उन पर आरोप लगाये जोते हैं तो स्‍थिति अच्‍छी नहीं होगी। ट्रंप को रूसी साठगांठ के आरोप के लिए अभियोग का सामना करना पड़ा तो राष्‍ट्रपति पद से उनका पत्ता साफ हो सकता है। ट्रंप की चुनाव अभियान टीम पर राष्ट्रपति चुनाव में रुकावट पैदा करने का भी आरोप है। शिंडलर का कहना ळै कि इस मामले में ट्रंप के आसपास के लोग ही नहीं बल्कि वह खुद भी मुश्‍किल में हैं।
जब ट्रक चलाने लगे अमेरिका के राष्‍ट्रपति

सार्वजनिक हो सकती है जांच
सूत्रों के मुताबिक सामान्‍य तौर पर ऐसी जांचे गुप्‍त रखी जाती हैं, लेकिन विषेश स्‍थितियों के चलते ये केस सार्वजनिक सार्वजनिक किया जा सकता है। ऐसा हुआ तो यह मामला अमेरिका की राजनीति में गेम चेंजर साबित हो सकता है। एफबीआइ, कांग्रेस और संभावित स्वतंत्र एजेंसी की जांच के बाद रूस के साथ ट्रंप और उनकी टीम के कथित संबंध सार्वजनिक हो सकते हैं। एफबीआइ निदेशक जेम्स कोमी ने पुष्टि की है कि एजेंसी 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रूस की दखलंदाजी के अलावा रूस तथा ट्रंप की प्रचार टीम के बीच संभावित लिंक की भी जांच कर रही है। अमेरिकी कांग्रेस की अन्य कमेटियां भी चुनाव में रूस कनेक्शन की जांच कर रही हैं।
लोग कहते रहे लेकिन ट्रंप ने एंजेला मर्केल से नहीं मिलाया हाथ

पुतिन से रिश्‍तों का शक
अमेरिकी खुफिया एजेंसी ट्रंप के पुराने पब्‍लिसिटी मैनेजर पॉल मानाफोर्ट को केंद्र में रख कर जांच कर रही है। मानाफोर्ट पर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के हितों को साधने के लिए काम करने का आरोप है। वैसे इस मामले मानाफोर्ट ने अपनी ओर से NSA के सामने बयान दर्ज कराने की पेशकश रखी है। ये भी हो सकता है कि कांग्रेस की इंटेलीजेंस कमेटी भी उनसे पूछताछ करे।
ट्रंप दान करेंगे सालाना वेतन

 

International News inextlive from World News Desk

International News inextlive from World News Desk