-खूंटी के मुरहू की घटना, चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी

-आरोपियों को शक था कि उनके भैंसे को जादू-टोना कर मारा गया है

खूंटी : डायन बिसाही के शक में खूंटी जिले के मुरहू थाना क्षेत्र स्थित रुमुतकेल गांव में शनिवार की देर रात ग्रामप्रधान 45 वर्षीय पंडा मुंडा और उनकी पत्नी 39 वर्षीया अनिमा सोरेन मुर्मू की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई. इस लोमहर्षक घटना से रुमुतकेल और आसपास के इलाकों में सनसनी फैल गई. ओराप है कि हत्या में खडि़या मुंडा सहित तीन अन्य लोग शामिल थे. रविवार की दोपहर हत्या की घटना की जानकारी देते एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने मुरहू थाने में बताया कि खडि़या मुंडा का भैंसा बीमार पड़ गया था. बाद में मर गया. खडि़या भैंस मरने के कारण का पता लगाने किसी ओझा-गुणी के पास पहुंचा था. उस ओझा गुणी ने बताया था कि पंडा और उसकी पत्नी ने मिलकर मंत्र-तंत्र किया, जिससे उसका भैंसा मर गया. ओझा पर यकीन कर खडि़या प्रतिशोध की आग में जल रहा था. उसने अपने लोगों को गोलबंद कर दंपती की हत्या करने की साजिश रची.

तीन लोगों की ली मदद

एसपी ने बताया कि शनिवार की रात खडि़या अपने तीन अन्य सहयोगियों की सहायता से ग्रामप्रधान के घर में घुस गया. उन लोगों के पास भुजाली थी. बाद में दरवाजा खोलने के लिए आवाज लगाई. जब घर का दरवाजा नहीं खोला गया, तो हत्या करने आए लोगों ने दरवाजा तोड़ दिया. इसके बाद पति-पत्नी की काटकर हत्या कर दी. घटना की सूचना ग्रामीणों ने मुरहू पुलिस को दी. पुलिस गांव पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया. शव को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया. मुरहू थाने में दो नामजद और दो अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. पुलिस हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार करने के छापेमारी कर रही है.