देहरादून: थाना रायपुर के एमडीडीए कॉलोनी इलाके में एक सनकी बाप ने अपनी सात साल की बेटी का चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी. इसके बाद उसने बेटी का शव मयूर विहार के सुनसान इलाके में झाडि़यों में फेंक दिया. बताया जा रहा है कि आरोपी का पत्नी से अकसर झगड़ा होता था. कुछ दिन पहले ही उसकी पत्नी नाराज होकर अपने मायके चली गई थी. आरोपी ने पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी. पुलिस ने इसी सिलसिले में जब उसे पूछताछ के लिए थाने में बुलाया तो बच्ची के मर्डर का खुलासा हुआ.

घर छोड़ गई पहली पत्नी

मूलरूप से चूना भट्ठा इलाके का रहने वाला विक्टर डेनियल थॉमस ने करीब तीन माह पहले रायपुर की एमडीडीए कॉलोनी डालनवाला में मकान किराए पर लिया था. यहीं उसने मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान खोल रखी थी. वह अपनी पहली पत्‍‌नी शिवानी उससे हुई बेटी एंजिला (11), ऐलिना (7) व अबी (2) और दूसरी बीवी माही को भी साथ ले आया था. दूसरी बीवी से डेनियल के कोई संतान नहीं है. करीब एक सप्ताह पहले उसकी पहली पत्‍‌नी शिवानी अचानक गायब हो गई. 11 अप्रैल को उसने रायपुर थाने में बीवी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी.

पूरे परिवार की हत्या की साजिश

पूछताछ में सामने आया कि शिवानी की डेनियल से अक्सर तकरार होती रहती थी. आरोप है कि वह दोनों बीवियों की पिटाई भी कर देता था. शिवानी इसके पहले भी नाराज होकर घर से गायब हुई थी, लेकिन हर बार लौट कर आ जाती थी. इस वजह से डेनियल के मन में शिवानी को लेकर नफरत भरने लगी थी. इसके बाद उसने पूरे परिवार को मौत के घाट उतारने की साजिश रच डाली.

नशा देकर गला रेता

जानकारी के मुताबिक बीते शनिवार की रात डेनियल ने घर में मैगी बनाई और उसमें नशीला पदार्थ मिला दिया. पूछताछ में डेनियल ने बताया कि मैगी खाकर एंजिला, अबी और माही नशे की हालत में आ गए, लेकिन ऐलिना होश में रही. जब वह बेहोश नहीं हुई तो उसने चाकू से उसका गला रेत दिया और दूसरे कमरे में बंद कर उसपर रजाई डाल दी. इस दौरान एंजिला और माही ने इस खौफनाक मंजर को अपनी आंखों से देखा, मगर नशे में होने के कारण वह कुछ नहीं कर पाए.

रात भर तड़पती रही मासूम

मामले में पुलिस ने एंजिला और माही के बयान लिए. दोनों के मुताबिक गला रेते जाने के बाद एलिना के शरीर में रविवार सुबह साढ़े नौ बजे तक हरकत होती रही. इस बीच एंजिला ने पड़ोस के किसी शख्स से एलिना को मारे जाने का जिक्र कर दिया तो पूरे मोहल्ले में खबर फैल गई. सोमवार को इलाके के पार्षद ने पुलिस को चर्चाओं के बारे में बताया तो पुलिस ने डेनियल को पूछताछ के लिए थाने बुलाया. थाने जाने से पहले डेनियल ने ऐलिना के शव को डांडा लखौंड के पास एक खाली प्लॉट में झाडि़यों में छिपा दिया.

पूछताछ के दौरान शव बरामद

पुलिस थाने में डेनियल से पूछताछ कर ही रही थी कि तभी डांडा लखौंड इलाके में एक मासूम बच्ची का शव पड़े होने की सूचना मिली. पुलिस मौके पर पहुंची तो उसकी शिनाख्त एलिना के रूप में हो गई. इसके बाद पुलिस ने डेनियल से सख्ती से पूछताछ की तो उसने पूरा सच उगल दिया. डेनियल को लेकर पुलिस उसके एमडीडीए कॉलोनी स्थित किराये के मकान पर पहुंची, जहां से खून से सना बिस्तर और कत्ल में प्रयुक्त चाकू पुलिस ने बरामद कर लिया.

देहव्यापार में दो बार गया था जेल

पुलिस ने जब आरोपी की कुंडली खंगानी शुरू की, तो पता चला कि देहव्यापार में लिप्त पाये जाने पर थाना पटेलनगर पुलिस ने उसे दो बार जेल भेजा था. जेल से छूटने के बाद उसने एमडीडीए कॉलोनी में मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान खोल ली थी.

पूछताछ के दौरान डेनियल ने अपनी बेटी की हत्या करना स्वीकार किया है. उसे गिरफ्तार कर लिया है. उसके घर से वारदात में प्रयुक्त चाकू बरामद कर लिया गया है. मंगलवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा.

हेमेन्द्र सिंह नेगी, प्रभारी, थाना रायपुर