लैप्रोस्कोपिक स्लीव गेस्ट्रोक्टॉमी विधि से हो रहा है इलाज
दुनिया की सबसे वजनी महिला इमान अहमद की मुंबई के अस्पताल में सर्जरी की गई थी। उन्हें ईलाज के लिए मिस्र से मुंबई लाया गया। जब उन्‍हें मुंबई लाया गया तब उनका वजन 500 किलोग्राम था। 142 किलो वजन घटने के बाद अब उसका वजन लगभग 358 किग्रा रह गया है। सैफी अस्पताल के डॉक्टरों ने वजन कम करने के लिए लैप्रोस्कोपिक स्लीव गेस्ट्रोक्टॉमी किया था। इमान के इलाज का नेतृत्‍व कर रहे डॉ. मुफज्जल लकड़ावाला ने बताया था कि सैफी अस्पताल ने इमान के लिए खासतौर पर एक कमरा तैयार किया है। सैफी हॉस्पिटल ने एक बयान जारी करके कहा था कि इमान का वजन घटाने के लिए लेपरोस्कोपिक स्लीव गेस्ट्रेक्टोमी किया था। ये सर्जरी कामयाब रही थी। अब ईमान को खाने में सिर्फ तरल पदार्थ ही दिए जा रहे हैं।

16 डॉक्‍टरों की टीम कर रही है इमान अहमद का इलाज
मेडिकल टीम ने इमान के लिए काम शुरू कर दिया है। जिससे उन्हें जितनी जल्दी हो सके फिट करके वापस मिस्र भेजा जा सके। इमान का ईलाज बेरियाट्रिक सर्जन मुफ्फजल लकड़ावाला और उनकी 16 सदस्यीय टीम कर रही है। इमान पिछले 25 वर्षों से घर से बाहर नहीं निकली थी। इलाज के लिए उन्हें विशेष चार्टर्ड विमान से मुंबई लाया गया था। डॉक्टरों के अनुसार इमान जब भारत आई थीं तो उनका वजन मास इंडेक्स की नॉर्मल युनिट से 252 गुना ज्यादा था। भारत आने के बाद उनको फाइबर और प्रोटीन युक्त डाइट दी जाने लगी थी। जिसकी वजह से उनके वजन में ये कमी आई। 25 दिन में ही इमान ने 100 किलो वजन कम कर लिया था। डॉक्टर इमान को हर रोज 1200 कैलोरी की डाइट दे रहे हैं। इमान को सुबह 7.30 बजे उठाया जाता था और हर दो घंटे में उन्हें खाना खिलाया जाता है।

Weird News inextlive from Odd News Desk

Weird News inextlive from Odd News Desk