ये हैं कुंदन शाह निर्देशित फिल्‍म 'जाने भी दो यारों' के पांच सीन

By: Inextlive | Publish Date: Sat 07-Oct-2017 03:15:00
A- A+
ये हैं कुंदन शाह निर्देशित फिल्‍म 'जाने भी दो यारों' के पांच सीन
फेमस फिल्‍म और टीवी शो निर्देशक कुन्‍दन शाह का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। कुन्‍दन शाह की फेमस फिल्‍मों सबसे पहला नाम आता है जाने भी दो यारों का जो एक कल्‍ट फिल्‍म का दर्जा रखती है। इसके अलावा उन्‍होने कभी हां कभी ना और क्‍या कहना जैसी शानदार फिल्‍में बनाई हैं। उनके टीवी शो नुक्‍कड़ और वागले की दुनिया भी खासे फेमस रहे हैं। कुंदन के शानदार कामों का अंदाजा लगाना है तो चलिए हम आपको दिखाते हैं जाने भी दो यारों के पांच दृश्‍य जो उनकी क्‍लास का सबसे बड़ा सबूत हैं।

दृश्‍य नंबर एक- ये वो सीन है जब नशे की हालत में बिल्‍डर आहूजा यानि ओमपुरी, भ्रष्ट नगर निगम आयुक्त डी मेलो सतीश शाह के ताबूत को अपनी कार से बांधकर अपने ले जाता है।

दृश्‍य नंबर दो- इसी तरह दोनों फोटाग्राफर नसीरुद्दीन शाह और रवि बासवानी रिपोर्टर शोभा यानि भक्‍ति बर्वे के साथ बिल्‍डर तरनेजा बने पंकज कपूर के पास अपनी जानकारी का सौदा करने के लिए जाते हैं, और तनरेजा उन्हें मारने के लिए एक बम रखवा देता है। वही बम दुर्भाग्य से तरनेजा और उसके गुर्गे के मुंह पर फट जाता है। 
सैफ की ‘शेफ’ से पहले भी ‘पेट पूजा’ को लेकर कमाल कर चुकी हैं ये 5 हिंदी फिल्‍में

दृश्‍य नंबर तीन- रवि और नसीर मिल कर डिमेलो की लाश को आहूजा के फार्म हाउस से गायब करते हैं, और लाश को स्केट्स पहनाकर भागने की कोशिश करते हैं।
बीएमसी ने ध्‍वस्‍त किए बॉलीवुड एक्‍टर्स के अवैध निर्माण

दृश्‍य नंबर चार- तरनेजा, आहूजा, नए नगर आयुक्त श्रीवास्तव यानि दीपक काज़िर, शोभा और तरनेजा और आहूजा के सहयोगी दोनों फोटोग्राफर का पीछा करते हैं तो वे बुरख़ा पहनी हुई महिलाओं के भेष में वहां से भागते हैं। इस पूरे सीक्‍वेंस में उनके कई हास्यास्पद दृश्य हैं।
वजन बढ़ा रूप बदला! बॉलीवुड के इन सितारों को नहीं पहचान पाएंगे आप

दृश्‍य नंबर पांच- महाभारत के द्रौपदी चीर हरण प्रकरण नाटक पर दर्शाया गया है जिसके बीच में यह दोनों और इनका पीछा कर रहे लोग घुसकर नाटक को एक मनोरंजक मोड़ दे देते हैं। सही मायनों में नाटक की ऐसी तैसी कर देते हैं और महाभारत के बीच में सलीम-अनारकली की प्रेम गाथा शामिल कर देते हैं। इस पूरे प्रकरण में डी मेलो की लाश पहले द्रौपदी और फिर अनारकली का रोल अदा करती है।
दृश्‍य नंबर एक- ये वो सीन है जब नशे की हालत में बिल्‍डर आहूजा यानि ओमपुरी, भ्रष्ट नगर निगम आयुक्त डी मेलो सतीश शाह के ताबूत को अपनी कार से बांधकर अपने ले जाता है।

दृश्‍य नंबर दो- इसी तरह दोनों फोटाग्राफर नसीरुद्दीन शाह और रवि बासवानी रिपोर्टर शोभा यानि भक्‍ति बर्वे के साथ बिल्‍डर तरनेजा बने पंकज कपूर के पास अपनी जानकारी का सौदा करने के लिए जाते हैं, और तनरेजा उन्हें मारने के लिए एक बम रखवा देता है। वही बम दुर्भाग्य से तरनेजा और उसके गुर्गे के मुंह पर फट जाता है। 

सैफ की ‘शेफ’ से पहले भी ‘पेट पूजा’ को लेकर कमाल कर चुकी हैं ये 5 हिंदी फिल्‍में

दृश्‍य नंबर तीन- रवि और नसीर मिल कर डिमेलो की लाश को आहूजा के फार्म हाउस से गायब करते हैं, और लाश को स्केट्स पहनाकर भागने की कोशिश करते हैं।

बीएमसी ने ध्‍वस्‍त किए बॉलीवुड एक्‍टर्स के अवैध निर्माण

दृश्‍य नंबर चार- तरनेजा, आहूजा, नए नगर आयुक्त श्रीवास्तव यानि दीपक काज़िर, शोभा और तरनेजा और आहूजा के सहयोगी दोनों फोटोग्राफर का पीछा करते हैं तो वे बुरख़ा पहनी हुई महिलाओं के भेष में वहां से भागते हैं। इस पूरे सीक्‍वेंस में उनके कई हास्यास्पद दृश्य हैं।

वजन बढ़ा रूप बदला! बॉलीवुड के इन सितारों को नहीं पहचान पाएंगे आप

दृश्‍य नंबर पांच- महाभारत के द्रौपदी चीर हरण प्रकरण नाटक पर दर्शाया गया है जिसके बीच में यह दोनों और इनका पीछा कर रहे लोग घुसकर नाटक को एक मनोरंजक मोड़ दे देते हैं। सही मायनों में नाटक की ऐसी तैसी कर देते हैं और महाभारत के बीच में सलीम-अनारकली की प्रेम गाथा शामिल कर देते हैं। इस पूरे प्रकरण में डी मेलो की लाश पहले द्रौपदी और फिर अनारकली का रोल अदा करती है।

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk