अब प्रोवोस्टों की निगरानी में मिलेगा खाना

By: Inextlive | Publish Date: Wed 13-Sep-2017 07:40:29
A- A+
अब प्रोवोस्टों की निगरानी में मिलेगा खाना

- 30 दिन में 2 बार मेस का संचालन हुआ बंद

- 7 दिन में 3 बार बवाल कर चुके हैं स्टूडेंट्स

- 12 प्रॉवेस्ट की मेस में लगाई ड्यूटी

- 3 टाइम करेंगे निगरानी

- खाना बंटने से 30 मिनट पहले होगा पहुंचना

- वीसी ने सभी प्रॉवोस्ट की लगाई ड्यूटी

- प्रॉवोस्ट की टीम करेगी मेस संचालन

- तीनों टाइम लगाइ जाएगी ड्यूटी

- विवादों के बाद बंद हो जाती है सेंट्रल मेस

LUCKNOW :

वीसी प्रो। एसपी सिंह की लाख कोशिशों के बाद भी एलयू सेंट्रल मेस की प्रॉब्लम खत्म नहीं हो रही हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन की लाख कोशिशों के बाद भी एक माह में दो बार मेस का संचालन बंद हुआ है। इस प्रॉब्लम से निपटने की जिम्मेदारी अब वीसी ने प्रॉवोस्ट को सौंपी है। अब सभी प्रॉवोस्ट अपनी निगरानी में सेंट्रल मेस में स्टूडेंट्स को खाना दिलवाएंगे.

12 की लगी ड्यूटी

वीसी प्रो। सिंह ने मंगलवार को ऑर्डर जारी कर कहा है कि, सेंट्रल मेस में खाना खाने वाले सभी छह हॉस्टलों के प्रॉवोस्ट अपनी निगरानी में स्टूडेंट्स को खाना खिलवाएंगे। तीनों टाइम खाना खिलाने के लिए 12 प्रॉवोस्ट की ड्यूटी लगाई जाएगी। जिसके तहत तीनों समय ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के समय इनकी ड्यूटी लगाई जाएगी। किस समय किस प्रॉवोस्ट की ड्यूटी होगी, यह तय करने का काम चीफ प्रॉवोस्ट और चीफ प्रॉक्टर की होगी।

होगी पूरी निगरानी

इन प्रॉवोस्ट की ड्यूटी होगी वह सेंट्रल मेस में खाना खाने आ रहे स्टूडेंट्स की एंट्री से लेकर मेस में खाना खाकर निकलने तक पूरी निगरानी रखें। वीसी ने कहा है कि मेस में ड्यूटी केवल उन्हीं टीचर्स की लगाई जाएगी, जिनकी उस समय क्लास नहीं होगी.

बाहरी स्टूडेंट्स को रोकेंगे

वीसी ने बताया कि प्रॉवोस्ट की टीम की जिम्मेदारी बाहरी और अज्ञात स्टूडेंट्स का मेस में प्रवेश रोकना होगा। वह मेस में खाना मिलने के आधे घंटे पहले पहुंचेंगे और इसके बाद मेस के अंदर आने वाले हर स्टूडेंट की एंट्री चेक करेंगे। साथ ही अगर कोई स्टूडेंट खाने के समय शिकायत दर्ज कराता है, तो उसे भी वहीं पर दूर किया जाएगा।

निगरानी में बंटा खाना

मंगलवार को सुबह का नाश्ता और दोपहर का लंच चीफ प्रॉवोस्ट प्रो। संगीता रानी की निगरानी में बांटा गया। साथ ही उन्होंने स्टूडेंट्स के साथ मेस में खाना भी खाया। इस दौरान उन्होंने स्टूडेंट्स को मेस के नियमों को फालो करने और खाने की अगर कोई शिकायत है तो उसे नियमानुसार दर्ज कराने को कहा।

उखाड़ ले गए थे कैमरे

एलयू सेंट्रल मेस में संडे शाम सात बजे कुछ स्टूडेंट्स मेस के सीसीटीवी कैमरे उखाड़ ले गए थे। इसके विरोध में मेस संचालक ने सोमवार को मेस बंद कर दी थी। मंडे सुबह स्टूडेंट्स नाश्ते के लिए पहुंचे तो मेस बंद होने का उन्होंने विरोध किया था.

दो हफ्ते में तीसरी घटना

इससे पहले भी इस तरह की घटना पिछले दो वीक में हो चुकी हैं। अगस्त लास्ट वीक में जहां बाहरी स्टूडेंट्स ने बायोमैट्रिक मशीनें तोड़ दी थीं। वहीं दो सितंबर की आधी रात में कुछ लोग सीसीटीवी कैमरे की फुटेज रिकॉर्ड करने वाली डीवीआर मशीन चोरी कर ले गए थे।

वीसी ने किया था दावा

तीन सितंबर को मेस जब बंद हुई तो भारी संख्या में स्टूडेंट्स ने वीसी आवास का घेराव किया। वीसी ने स्टूडेंट्स से मेस की सिक्योरिटी को लेकर कई दावे किए लेकिन हालिया घटनाओं ने उनके दावों को फ्लॉप साबित कर दिया.

गा‌र्ड्स को किया सस्पेंड

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने संडे रात मेस में तैनात गा‌र्ड्स को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही जो गार्ड उस समय हॉस्टल में तैनात थे उन्हें भी सस्पेंड करने की कार्रवाई की गई है। इस मामले में अभी तक किसी स्टूडेंट की पहचान नहीं हुई है। एलयू ने अज्ञात स्टूडेंट्स पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए प्रशासन को तहरीर दी है.

अभी हम प्रॉवोस्टों की निगरानी में सेंट्रल मेस में खाना खिलवाने की व्यवस्था कर रहे हैं। इनकी टीम बनाने के लिए चीफ प्रॉवोस्ट को ऑर्डर दिया है। इन प्रॉवोस्ट की मंजूरी के बाद ही स्टूडेंट्स को खाना मिलेगा।

प्रो। एसपी सिंह, वीसी, एलयू

inextlive from Lucknow News Desk