- युवक के साथ गई थी, थाने में हुए दोनों पेश

आगरा. थाना जगदीशपुरा पुलिस के हाथ-पैर तब फूल गए, जब नाबालिग छात्रा ने थाने में विषाख्त खा लिया. पुलिस ने उसे आनन-फानन में निजी हॉस्पिटल में एडमिट कराया. उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है. पुलिस का कहना है कि विषाख्त की अफवाह थी, उसने कुछ नहीं खाया.

युवक के साथ चली गई थी

जगदीशपुरा निवासी 16 वर्षीय किशोरी आगरा कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा है. एरिया की दूसरी गली में रहने वाले युवक से उसके सम्बंध हो गए. परिजनों को इस बात की जानकारी हुई तो उन्होने छात्रा पर बंदिश लगा दी. लेकिन 6 जनवरी को दोनों घर की चार दीवारी को लांघ गए. छात्रा के जाने पर परिजनों ने थाने में युवक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करा दिया. गुरुवार की रात दोनों थाना जगदीशपुरा आ गए और सरेंडर कर दिया. शुक्रवार की सुबह जानकारी होने पर छात्रा के परिजन थाने पहुंच गए. परिजनों ने छात्रा से साथ चलने को बोला तो उसने प्रेमी के साथ जाने की बात बोली. वह बोली उसके साथ ही रहेगी नहीं तो उसकी चिता प्रेमी के साथ जलेगी.

पुलिस ने बताया अफवाह

परिजनों के समझाने पर भी वह नहीं मानी. परिजनों ने उसके खाने के लिए बाजार से सामान मंगवाया. सामान खोलने के बाद उसने सब्जी में कुछ मिलाया और एक बार में सब्जी को पी लिया. वहीं पर मौजूद एक महिला ने उसे देख लिया. उसने पूछा ये क्या किया तो उसने बताया कि जहर खा लिया. ये सुनते ही थाने में अफरा-तफरी मच गई. पुलिस आनन-फानन में उसे निजी हॉस्पिटल ले गई जहां पर उसकी हालत ठीक बताई गई है. एसओ थाना जगदीशपुरा अरविंद कुमार के मुताबिक किशोरी ने कोई विषाख्त नहीं खाया था. विषाख्त की किसी ने अफवाह उड़ा दी. छात्रा को नारी निकेतन भेज दिया गया है.