गाजियाबाद से मुगलसराय तक लगेगा ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम, जानें ये क्‍या है?

By: Inextlive | Publish Date: Wed 13-Sep-2017 04:11:12   |  Modified Date: Wed 13-Sep-2017 04:13:10
A- A+
गाजियाबाद से मुगलसराय तक लगेगा ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम, जानें ये क्‍या है?
तेजी से कराएं रिप्लेसमेन्ट और रिन्यूवल वर्क, ग्रास रूट कर्मचारियों से बनाएं पर्सनल कनेक्टिविटी पंक्चुअलिटी और सेफ्टी मीटिंग में जीएम एनसीआर ने अधिकारियों को दिया आदेश

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: जीएम एनसीआर एमसी चौहान ने मंगलवार को पंक्चुअलिटी के साथ ही रेल सेफ्टी को लेकर एनसीआर हेड क्वार्टर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के थ्रू इलाहाबाद, आगरा और झांसी मंडल के डीआरएम व अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग की. इसमें संरक्षा को और अधिक बेहतर बनाने के निर्देश दिए गए.

खत्म करें या करें गेटमैन की तैनाती

जीएम एनसीआर ने अधिकारियों से कहा कि रेल मंत्री के आदेशानुसार एनसीआर के सभी अनमैंड रेलवे क्रासिंग को एक वर्ष में या तो समाप्त करें या गेटमैनों की नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी करें. ट्रैक रिप्लेसमेन्ट और रिन्यूवल वर्क शुरू होने वाले हैं, इसलिए अभी से तैयार रहें.

कर्मचारियों की समस्या देखें

जीएम ने कहा कि जो भी अधिकारी निरीक्षण के लिए फील्ड में जायें ग्रासरूट कर्मचारियों से पर्सनल कनेक्टिविटी बनाएं. उनसे जमीनी स्थिति की जानकारी लें. वेलफेयर इंस्पेक्टर्स को फील्ड में जाकर ग्राउण्ड लेवल स्टाफ की वास्तविक स्थिति देखने और समस्याओं के निवारण का आदेश दिया.

कोहरे से हादसों पर लगेगी रोक

मीटिंग में गाजियाबाद-मुगलसराय खण्ड पर ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम की स्थापना पर चर्चा हुई. ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम से कोहरे के दौरान खराब दृश्यता की स्थिति में लोको पायलट को सिग्नल की स्थिति की जानकारी लोकोमोटिव कैब में हो जायेगी. यदि ट्रेन की स्पीड सिग्नल के अनुरूप निर्धारित गति से अधिक है तो आटोमेटिकली ब्रेक लग जाएगा.