जमीनों की खरीद-फरोख्त से मिलने वाले राजस्व में 20 करोड़ की कमी

By: Inextlive | Publish Date: Thu 14-Sep-2017 07:41:04
A- A+

- जमीन की खरीद- फरोख्त में 14 परसेंट की गिरावट

- कम खरीद- फरोख्त के बावजूद जमीनों की कीमतों में नहीं आई कोई कमी

DEHRADUN: पिछले साल नवम्बर में नोटबंदी के बाद दून में जमीनों की खरीद- फरोख्त में आया मंदी का दौर अब तक जारी है। पिछले वित्त वर्ष के शुरुआती पांच महीनों की तुलना में दून में इस वित्त वर्ष के शुरुआती पांच महीनों में जमीनों की 14.46 प्रतिशत खरीद- फरोख्त कम हुई है। इससे जिले को मिलने वाले राजस्व में भी 11.15 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है।

20 करोड़ कम राजस्व

वित्त वर्ष 2016- 17 के पहले पांच महीनों यानी अप्रैल से अगस्त तक जिले को जमीन की खरीद- फरोख्त से स्टाम्प और निबंधन शुल्क के रूप में कुल 181 करोड़ 6 हजार 772 रुपये का राजस्व मिला था। वित्त वर्ष 2017- 18 में अप्रैल से अगस्त तक कुल 160 करोड़ 81 लाख 61 हजार 199 रुपये राजस्व ही प्राप्त हो सका है। यह कमी 20 करोड़ 18 लाख 45 हजार 573 रुपये की है, जो 11.15 प्रतिशत है.

14.46 प्रतिशत कम रजिस्ट्री

पिछले साल के शुरुआती पांच महीनों की तुलना में इस साल के शुरुआती पांच महीनों में रजिस्ट्रियों की संख्या में भी भारी कमी आई है। पिछले अप्रैल से अगस्त तक कुल 26 हजार 251 रजिस्ट्री हुई थीं, जबकि इस साल अप्रैल से अगस्त तक यह संख्या मात्र 22,453 ही रही। कुल मिलाकर यह कमी 14.46 प्रतिशत की रही.

नोटबंदी का असर

अधिकारिक रूप से यह बात साफ नहीं है कि रजिस्ट्री की संख्या में यह कमी नोटबंदी के कारण आई है या किसी दूसरे कारण से, लेकिन आंकड़े बताते हैं कि नवम्बर में नोटबंदी के बाद अचानक रजिस्ट्री की संख्या में जबरदस्त कमी आई। वित्त वर्ष 2016- 17 में जिला प्रशासन को कुल 361 करोड़ से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ था। अप्रैल से अक्टूबर तक 244 करोड़ से अधिक का राजस्व प्राप्त हो चुका था, जबकि नवम्बर से अप्रैल तक मात्र 117 करोड़ का राजस्व ही प्राप्त हुआ.

कब कितना राजस्व (अप्रैल से अगस्त)

क्षेत्र ख्0क्म् ख्0क्7

शहर प्रथम क्9ब्.फ्म् क्88.फ्8

शहर द्वितीय क्म्0.ब्ब् क्क्ब्.0ख्

शहर तृतीय ख्80.भ्क् फ्ख्9.ख्7

शहर चतुर्थ भ्7ख्.फ्ख् भ्07.9भ्

विकासनगर प्रथम क्क्म्.म्भ् क्0फ्.क्8

विकासनगर द्वितीय ख्फ्ब्.9ख् क्भ्ख्.ब्8

ऋषिकेश ख्भ्0.77 ख्क्ख्.7क्

नोट : आंकड़े करोड़ रुपये में

रजिस्ट्री की संख्या (अप्रैल से अगस्त)

क्षेत्र ख्0क्म् ख्0क्7

शहर प्रथम फ्007 ख्ब्ब्8

शहर द्वितीय क्7फ्भ् क्भ्08

शहर तृतीय फ्भ्म्9 ब्0ब्7

शहर चतुर्थ म्07म् भ्0म्8

विकासनगर प्रथम ख्ब्9क् ख्फ्9ख्

विकासनगर द्वितीय ब्9ब्8 फ्फ्ख्8

ऋषिकेश ब्फ्7भ् फ्म्म्ख्

- - - - - - - -

पिछले कुछ सालों से देहरादून में जमीनों की रजिस्ट्री से होने वाली आय में अच्छी बढ़ोत्तरी हो रही थी, लेकिन इस बार काफी कमी दर्ज की गई है। यह कमी किस वजह से हुई है, यह तो नहीं कहा जा सकता। नोटबंदी का मंदी से क्या संबंध है, यह भी स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता, लेकिन राजस्व में गिरावट आई है.

बीर सिंह बुदियाल, एडीएम, वित्त एवं राजस्व।

inextlive from Dehradun News Desk