delete

सरकार कसेगी शिक्षा विभाग की लगाम

By: Inextlive | Publish Date: Sat 20-May-2017 07:41:48
- +

- विभिन्न योजनाओं और कार्यो का लिया जा रहा हिसाब

- मामले में विभाग के अधिकारी 25 मई को देंगे ब्योरा

ravi.priya@inext.co.in

DEHRADUN: प्रदेश सरकार ने स्कूली स्तर पर शिक्षा व्यवस्था को ढर्रे पर लाने के लिए शिक्षा विभाग को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया है। इसी क्रम मे जहां एक ओर बीते दिनों बड़े स्तर पर शिक्षा विभाग में तबादले किए गए, वहीं अब सरकार द्वारा विभाग के विभिन्न कार्यो का हिसाब मांगा जा रहा है। मामले में विभाग द्वारा ख्भ् मई को योजनाओं और कार्यो को लेकर जानकारी दी जाएगी।

शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश के निजी स्कूलों पर लगाम न कस पाने का खामियाजा बीते दिनों ब्ख् ए और बी ग्रेड के अधिकारियों ने भुगता। अधिकारियों के इतने बड़े स्तर पर तबादलों से यह बात भी साफ हो गई कि प्रदेश सरकार स्कूलों की मनमानी और अधिकारियों की नाफरमानी को बर्दाश्त करने के मूड में नहीं है। इसी को देखते पहले स्कूलों के लिए कड़े दिशा निर्देश जारी किए गए और अब शिक्षा विभाग से मौजूदा व्यवस्थाओं, योजनाओं, संसाधन और सुविधाओं आदि का हिसाब सरकार ने मांगा है। विभाग को तमाम जानकारियां ख्भ् मई को शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे की अध्यक्षता में आयोजित होने वाली समीक्षा बैठक में देनी होंगी। बैठक में प्रदेश के सभी जनपदों के मुख्य शिक्षा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा व जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक शिक्षा को शामिल होना है। बैठक में विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा भी की जाएगी।

इन मुद्दों पर ली जाएगी जानकारियां

- प्रदेश में स्कूलों की स्थिति.

- स्कूलों में मानव व भौतिक संसाधन.

- स्कूलों का अनुश्रवण/निरीक्षण।

- सेवानिवृत्त कार्मिकों से जुड़े मामले.

- स्कूलों में तैनात शिक्षकों से जुड़े मामले.

- शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत पुन: प्रवेश, कॉशन मनी, रि- कैपिटेशन फीस का मामला.

- क्लास एक से क्ख् तक एनसीईआरटी किताबों के संचालन।

- गेस्ट/संविदा शिक्षकों को लेकर जानकारी देने के साथ ही कई अन्य मामलों पर भी होगी समीक्षा बैठक.

विभाग को स्कूली शिक्षा से जुड़े कई मुद्दों पर जानकारियां देने और शिक्षकों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने के लिए बैठक बुलाई गई है। बैठक में करीब ख्क् मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। विभाग या किसी अन्य स्तर पर लापरवाही किसी स्थिति में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसलिए तमाम मामलों की जानकारियां ली जा रही हैं.

- - - - अरविंद पांडे, मिनिस्टर, स्कूल एजुकेशन

inextlive from Dehradun News Desk